+

यूपी के भाजपा नेता का दावा, पार्टी ने पंचायत चुनाव में अनुचित तरीके से किया टिकटों का वितरण

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक सुरेंद्र सिंह का कहना है कि जिला पंचायत सदस्य के दो पद के लिए पार्टी ने ऐसे लोगों को उम्मीदवार बनाया है, जो भाजपा के हैं ही नहीं, इसलिए उन्होंने पार्टी उम्मीदवार के समानांतर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।
यूपी के भाजपा नेता का दावा, पार्टी ने पंचायत चुनाव में अनुचित तरीके से किया टिकटों का वितरण
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक सुरेंद्र सिंह का कहना है कि जिला पंचायत सदस्य के दो पद के लिए पार्टी ने ऐसे लोगों को उम्मीदवार बनाया है, जो भाजपा के हैं ही नहीं, इसलिए उन्होंने पार्टी उम्मीदवार के समानांतर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। 
बलिया जिले के बैरिया क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र सिंह ने आज अपने आवास पर संवाददाताओं द्वारा समानांतर उम्मीदवारों के संबंध में पूछे जाने पर कहा ‘‘जन भावनाओं को ध्यान रखते हुए हमने अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं।'' उन्होंने दावा किया ''भाजपा ने गलत टिकट वितरण किया है और मुरली छपरा ब्लॉक में भाजपा ने दो ऐसे लोगों को टिकट दे दिया है, जो भाजपा के ही नहीं हैं।'' अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले भाजपा विधायक सिंह ने बैरिया क्षेत्र में जिला पंचायत सदस्य के तीन पद पर भाजपा उम्मीदवार के समानांतर अपने उम्मीदवार उतार दिये हैं। उत्तर प्रदेश में 15 अप्रैल से 29 अप्रैल तक पंचायत चुनाव होने हैं। सिंह ने प्रतापगढ़ में हाल ही में भाजपा विधायक तथा पुलिस अधीक्षक के मध्य हुए विवाद को निंदनीय करार दिया है। सिंह ने कहा ''अधिकारी मनमाना आचरण कर रहे हैं जिससे योगी सरकार की छवि पर तो असर पड़ ही रहा है ... दल के नेतृत्व को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।'' 
गौरतलब है कि प्रतापगढ़ जिले की रानीगंज सीट से भाजपा विधायक धीरज ओझा पुलिस अधीक्षक पर मारपीट का आरोप लगाते हुए बुधवार को जिलाधिकारी आवास के सामने विरोध स्वरूप लेट गए थे। ओझा ने आरोप लगाया कि उन्हें पुलिस अधीक्षक ने पीटा है। उधर, पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने भाजपा विधायक धीरज ओझा द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार करार दिया।
facebook twitter instagram