भाजपा नेता संबित पात्रा बोले- मुख्यमंत्री को भ्रष्ट कहने वाले बयान पर राहुल गांधी मांगें माफी

06:55 PM Dec 10, 2019 | Yogesh Baghel
भाजपा ने मंगलवार को राहुल गांधी पर जवाबी हमला करते हुए कहा कि वह झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास को देश का सबसे भ्रष्ट मुख्यमंत्री बताने के अपने तथ्यहीन बयान के लिए माफी मांगें। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के द्वारा मुख्यमंत्री रघुवर दास को सबसे भ्रष्ट कहे जाने के आरोप की कड़ी निंदा की है। 

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री रघुवर दास पर तथ्यहीन और निरर्थक आरोप लगाए हैं। पात्रा ने कहा, ‘‘यह सिर्फ रघुवर दास पर नहीं, बल्कि झारखंड की मिट्टी पर हमला है, इसके लिए राहुल को माफी मांगनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी को अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी नेशनल हेराल्ड से जुड़े 5,000 करोड़ रुपये गबन के मामले में मुचलके पर बाहर हैं। 

सीएबी बिल पर उद्धव ठाकरे बोले- जब तक कुछ बातें स्पष्ट नहीं होतीं, हम नहीं करेंगे समर्थन

चिदंबरम घूसखोरी के मामले में जमानत पर बाहर आकर जश्न-ए-भ्रष्टाचार मनाने के लिए झारखंड आ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि पिछले दिनों कांग्रेसी नेता चिदंबरम जेल से निकलने के बाद रांची आए और यहां कांग्रेसियों ने जश्न मनाये। पात्रा ने कहा, ‘‘राहुल गांधी पहले तथ्यहीन आरोप लगाते हैं और फिर बाद में कोर्ट में माफी मांगते हैं नाक रगड़ते हैं। उनका ऐसा ही ट्रैक रिकॉर्ड रहा है।’’ 

झारखंड राज्य बने 19 वर्ष हो गए, पहले कांग्रेस ने राजद और झामुमो के साथ मिलकर झारखंड को चरागाह के रूप में इस्तेमाल किया। इस राज्य को एटीएम के रूप में इस्तेमाल किया। एक निर्दलीय मधु कोड़ा को मुख्यमंत्री बनाया और उनके कंधे पर भ्रष्टाचार रूपी बंदूक रखकर घोटाले किये। यह कांग्रेस का चरित्र है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में भ्रष्टाचार का अर्थ कांग्रेस होने वाला है। 

संबित पात्रा ने कहा कि झारखंड में पांच साल विकास की सरकार रही। मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में भाजपा ने बेदाग सरकार दी। यह जनता की भागीदारी की सरकार रही। पात्रा ने कर्नाटक उपचुनाव के नतीजे का जिक्र करते हुए कहा कि नतीजे कर्नाटक में आए और भूकंप के झटके झारखंड में महा मिलावटी गठबंधन तक पहुंचे। महामिलावटी गठबंधन को जनता ने नकार दिया है। उन्होंने कहा कि स्थिरता की जीत होगी और महागठबंधन की हार होगी।