+

कन्हैयालाल की हत्या का आरोपी BJP का सदस्य नहीं, बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा ने सभी दावों का किया खंडन

बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सादिक खान ने रियाज की कुछ स्थानीय बीजेपी नेताओं के साथ एक तस्वीर सामने आने के बाद कहा कि तस्वीर इस बात का सबूत नहीं है कि आरोपी बीजेपी का सदस्य है।
कन्हैयालाल की हत्या का आरोपी BJP का सदस्य नहीं, बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा ने सभी दावों का किया खंडन
बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा ने उन सभी आरोपों को खारिज किया है, जिसमें उदयपुर के कन्हैया लाल हत्याकांड का मुख्य आरोपी को बीजेपी का सदस्य बताया गया है। बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा ने कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी नेता के साथ तस्वीर ले सकता है। इसका मतलब यह नहीं है कि वह उसका सदस्य है।
बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सादिक खान ने रियाज की कुछ स्थानीय बीजेपी नेताओं के साथ एक तस्वीर सामने आने के बाद शनिवार को कहा कि तस्वीर इस बात का सबूत नहीं है कि आरोपी बीजेपी का सदस्य है। सादिक ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कोई भी व्यक्ति किसी नेता के साथ तस्वीर ले सकता है। इसका मतलब यह नहीं है कि वह बीजेपी का सदस्य है।’’ 
नेताओं के साथ तस्वीरें अपलोड करना एक सामान्य चलन 
सादिक खान ने कहा कि आरोपी पार्टी के किसी कार्यक्रम में गया होगा और स्थानीय नेताओं के साथ तस्वीरें ली होंगी। सादिक ने कहा, ‘‘चूंकि फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया मंचों पर नेताओं या मशहूर हस्तियों के साथ तस्वीरें अपलोड करना एक सामान्य चलन है, तो हो सकता है कि उसने इसलिए तस्वीर अपलोड की हो, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आरोपी बीजेपी का सदस्य है।’’ 
उन्होंने कहा कि यह घटना राज्य सरकार की नाकामी है क्योंकि कन्हैयालाल को स्पष्ट धमकी मिलने के बावजूद उसे सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई। बीजेपी नेता ने कहा कि पिछले साढ़े तीन साल में अल्पसंख्यकों के लिए कुछ नहीं करने वाली मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार की विफलता से जनता का ध्यान हटाने के लिये कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगा रही है। 
सादिक ने कहा कि आरोपी अख्तरी की मोटरसाइकिल का नंबर 2611 था जो उसने 2013 में अपनी पसंद से प्राप्त किया था और यह उनकी कट्टरपंथी विचारधारा को दर्शाता है। कन्हैयालाल की मंगलवार को अख्तरी और मोहम्मद ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी। आरोपियों ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए अपराध का भयानक वीडियो ऑनलाइन पोस्ट किया था। 
घटना के कुछ घंटे बाद दोनों आरोपियों को राजसमंद के भीम क्षेत्र में पकड़ लिया गया था। उदयपुर की मालदास गली में स्थित कन्हैयालाल की दुकान की टोह लेने और हत्या के षड्यंत्र में शामिल होने के आरोप में दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
facebook twitter instagram