+

राहुल के वीडियो पर भाजपा का पलटवार, कहा- क्या चीन का हौसला बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं राहुल

राहुल के वीडियो पर भाजपा का पलटवार, कहा- क्या चीन का हौसला बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं राहुल
लद्दाख में चीनी सौनिकों को साथ भारतीय सैनिकों की हिंसक झड़प का मामला दिन पर दिन तूल पड़ता जा रहा है। साथ ही इस मुद्दे को लेकर सियासत भी तेज होती जा रही है। इस बीच, भाजपा ने लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ भारतीय जवानों की हिंसक झड़प को लेकर सरकार से लगातार सवाल कर रहे राहुल गांधी पर ‘स्कूली बच्चे’ की भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि क्या कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अपने ‘बेतुके’ बयानों से चीन का हौसला बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं?

राहुल गांधी को लिखे पत्र में भाजपा उपाध्यक्ष विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि उन्हें बयान देने से पहले अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ विचार-विमर्श करना चाहिए। भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति अपने ‘निजी वैमनस्य’को प्रकट कर रहे हैं, जबकि सभी दल एक सुर में चीन की निंदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि संकट के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘कमजोर’ कहकर राहुल गांधी ने पूरे देश और एकजुटता की भावना का अपमान किया है। सहस्रबुद्धे ने कहा कि कांग्रेस के नेता और पार्टी को ‘स्कूली बच्चों की भाषा’ का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता।

गौरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने को लेकर बृहस्पतिवार को फिर से सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि ‘हमारे सैनिकों को हथियार के बिना खतरे की ओर से किसने भेजा और इसके लिए कौन जिम्मेदार है?’ उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘‘चीन ने शस्त्रहीन भारतीय सैनिकों की हत्या करके बहुत बड़ा अपराध किया हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि इन वीरों को बिना हथियार के खतरे की ओर से किसने भेजा? क्यों भेजा? कौन जिम्मेदार है?’’

facebook twitter