भाजपा की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से राहूल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की

भाजपा ने शुक्रवार को निर्वाचन आयोग से कहा कि झारखंड की चुनावी रैली में राहुल गांधी की ‘‘रेप इन इंडिया’’ टिप्पणी के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही पार्टी ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हिसाब चुकाने के लिए बलात्कार की घटनाओं का ‘‘राजनीतिक हथियार’’ के तौर पर ‘‘इस्तेमाल’’ कर रहे हैं। 

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की अगुवाई में भाजपा की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिलकर राहुल गांधी के खिलाफ ‘‘कठोरतम संभव कार्रवाई’’ की मांग की। गांधी ने यह बयान गुरुवार को दिया था। ईरानी ने कहा, ‘‘भाजपा की महिला सासंद इतनी नाराज हैं कि उन्होंने राहुल गांधी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए निर्वाचन आयोग से संपर्क किया। 

‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी पर राहुल का माफी से इनकार, मोदी का वीडियो ट्वीट कर किया पलटवार

गांधी ने नरेंद्र मोदी के साथ हिसाब चुकाने के लिए बलात्कार को एक राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया है।’’ उन्होंने चुनाव अधिकारियों के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने निर्वाचन आयोग से कहा कि यह पहली बार है जब किसी राजनीतिक नेता ने राजनीतिक मजाक के लिए बलात्कार का इस्तेमाल किया है। 

पूरा देश इस संवैधानिक संस्था (चुनाव आयोग) की ओर देख रहा है ताकि महिलाओं की गरिमा को बरकरार रखा जा सके और जो नेता बलात्कार को राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिल सके।’’ ईरानी ने कहा कि उन्होंने यह निर्वाचन आयोग पर छोड़ा है कि गांधी को क्या सजा दी जाए। 

उन्होंने पूछा, ‘‘राहुल गांधी को यह कहने का अधिकार किसने दिया कि देश में सभी महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहा है? राहुल गांधी को यह कहने का अधिकार किसने दिया कि हर आदमी बलात्कारी है? किसने राहुल गांधी को अपनी राजनीति के लिए देश की छवि को धूमिल करने का अधिकार दिया है?’’ ईरानी ने कहा कि निर्वाचन आयोग ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि वह कानूनी प्रक्रिया के अनुसार न्याय करेगा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए ‘‘जानबूझकर’’ ऐसा निंदनीय बयान दिया। 
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Rahul Gandhi,MPs,BJP,Election Commission,election rally,India,rape,Jharkhand