+

CAA नागरिकता देने वाला है न कि नागरिकता लेने वाला : विद्या सागर सोनकर

जम्मू-कश्मीर के लोगो को मुख्य धारा में जोड़ने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सीसीए से मुस्लिमों को डरने की जरूरत नहीं है। उनकी नागरिकता जाने का सवाल ही नहीं उठता है।
CAA  नागरिकता देने वाला है न कि नागरिकता लेने वाला : विद्या सागर सोनकर
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश महामंत्री एवं विधान परिषद सदस्य विद्या सागर सोनकर ने कहा कि सीएए नागरिकता देने वाला है किसी की नागरिकता लेने वाला नहीं है। सोनकर गुरुवार को यहां संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केन्द्र की लोकप्रिय नरेंद्र मोदी सरकार की विकासपरक और जनकल्याणी नीतियों से बौखलाये विपक्ष के पास कोई सार्थक मुद्दा नहीं बचा है और इसीलिये वे सीएए जैसे देश हित से जुड़े विषयों को लेकर जनता को भ्रमित करने का असफल प्रयास कर रहे हैं, जबकि नागरिकता संशोधन कानून नागरिकता देने वाला है लेने वाला नहीं। 

उन्होंने कहा कि ‘‘दरअसल कांग्रेस,समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) समेत अन्य विरोधी दलों के पास अब कोई मुद्दा नहीं रह गया है जिसके कारण वे सीएए के बहाने मुस्लिमों को भ्रमित करने का कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को जहां तीन तलाक जैसे कुप्रथा से निजात दिलाई, वहीं धारा 370 और 35 ए समाप्त करके जम्मू-कश्मीर के लोगो को मुख्य धारा में जोड़ने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सीसीए से मुस्लिमों को डरने की जरूरत नहीं है। उनकी नागरिकता जाने का सवाल ही नहीं उठता है। 

श्री सोनकर ने सीएए को लेकर विपक्षी दलों के प्रचार को मिथ्या करार दिया और कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के लिये जाति मजहब नहीं बल्कि देशहित सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि देश में पहली बार मोदी सरकार ने गरीबों एवं वंचित वर्ग एवं समाज के अंतिम पायदान पर खड़ व्यक्ति तक शासन की मूलभूत सुविधाओं से जोड़ने का काम किया है। उन्होंने कहा कि केंद, और प्रदेश की सरकार सबका साथ,सबका विकास और सबका विश्वास के आधार पर काम कर रही हैं।
facebook twitter