+

पंजाब के दोआबा स्थित डेरा सचखंड बल्ला में नतमस्तक हुए कैप्टन

पंजाब के दोआबा स्थित डेरा सचखंड बल्ला में नतमस्तक हुए कैप्टन
लुधियाना-दाखा :  पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह आज दोआबा इलाके में स्थित फगवाड़ा के चुनाव प्रचार करने से पहले  जालंधर स्थित डेरा सचखंड बल्ला में नतमस्तक हुए। इस दौरान जालंधर के सांसद सदस्य चौधरी संतोख सिंह के अलावा पंजाब की कांग्रेस प्रभारी आशा कुमारी भी मोजूद थी। कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने डेरा बल्ला पहुंचकर बाबा निरंजन दास जी से आर्शीवाद हासिल किया। स्मरण रहे कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह दूसरी बार सूबे के मुख्यमंत्री बनने के बाद सचखंड बल्ला में नतमस्तक हुए। इस दौरान आशा कुमारी के साथ डेरे में ब्रहमलीन संत सरवनदास महाराज की प्रतिमा पर फूल मालाएं अर्पित की। 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने श्री करतारपुर साहिब के  दर्शनों के लिए पड़ोसी मुलक पाकिस्तान पर अड़चने डालने के आरोप लगाते कहा कि पाकिस्तान की तरफ से 25 डालर फीस और एक माह पहले ऑन लाइन वीजा आवेदन की शर्ते रखना बेफजूल और बिलकुल गलत है। उन्होंने अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल को भी घेरते हुये कहा कि जहाँ उसके भाजपा के साथ रिश्ते समझे बाहर हैं वहीं हरियाणा मतदान में इनैलो को समर्थन देकर अकाली नेता ने पंजाब के पानी को दांव पर लगा दिया है। मुख्यमंत्री ने आज दाखा में कांग्रेस की एक रैली के दौरान मीडिया से बातचीत के दौरान कही।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इनैलो के पानी का मामले पर पक्ष को देखते यह बात स्पष्ट है कि चौटालों के हक में खड़े होने का अर्थ पंजाब के पानी पर हकों को सीधा ख़तरा है। उन्होंने कहा कि अकाली दल ने जहाँ हरियाणा में इनैलो को समर्थन देते हुये भाजपा के खि़लाफ़ उम्मीदवार खड़े किये हैं वहीं पंजाब में वह भाजपा के सहयोगी है जिससे स्पष्ट होता है कि इस पार्टी का कोई सिद्धांत नहीं। अकाली दल सत्ता की भूखी पार्टी है जो सत्ता की ख़ातिर कुछ भी कर सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुखबीर के व्यवहार ने भी अकाली दल और भाजपा के बीच रिश्तों को नंगा कर दिया है। पंजाब में इनके गठजोड़ में जितनी दरार नजऱ आ रही है, वास्तव में उससे भी ज़्यादा फर्क पड़ गया है।
गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए पाकिस्तान द्वारा भारतीय श्रद्धालुओं पर लगाई फीस के विरुद्ध लड़ाई जारी रखने की प्रतिबद्धता ज़ाहिर करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि वह तब तक अपना विरोध जारी रखेंगे जब तक गलियारे के द्वारा ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब के दर्शन किये जाने की विधि को आसान नहीं किया जाता।
दाखा में रोड शो के दौरान पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब श्रद्धालु जो श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके गुरुद्वारा साहिब के दर्शन करने की इच्छा रखता है, वह फीस और पासपोर्ट के खर्च झेल नहीं सकता। उन्होंने कहा कि यह बातें ‘खुले दर्शन दीदार’ करने की विचारधारा के खि़लाफ़ हैं।
मुख्यमंत्री का रोड शो आज दाखा हलके के जिस भी क्षेत्र में से गुजऱा लोगों की भारी भीड़ ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री का रोड शो रुमी में समाप्त होने से पहले लताला मंडी, छपार, धूरकोट, गुज्जरवाल, चमंडा, जोधां, खंडूर, जांगपुर, जस्सोवाल, हांस कलाँ आदि गाँवों में से गुजऱा जहाँ समर्थकों का बड़ा जन सैलाब उमड़ा।  कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपना दावा प्रकटाते हुये कहा कि कांग्रेस राज्य के चारों उप-मतदान बड़े फर्क के साथ जीतेेगी।
इन उप-मतदानों में विकास कामों संबंधी बताते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले ढाई सालों के दौरान राज्य में कांग्रेस सरकार द्वारा किये गये काम स्वयं बोलते हैं और लोग कांग्रेस पार्टी के इस सकारात्मक एजंडे को देखते हुये एक बार फिर उनकी पार्टी को वोट देंगे।

बरगाड़ी में हुए बेअदबी मामले संबंधी बोलते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पीडि़तों को न्याय दिलाने के लिए वचनबद्ध है और असली दोषियों को जेल ज़रूर भेजा जायेगा। उन्होंने कहा कि एस.आई.टी इस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है और बहुत जल्द निष्कर्षपूर्ण नतीजे सामने आऐंगे।
नशों की समस्या सम्बन्धी सवाल के जवाब में बोलते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि चाहे इस मामले में बहुत कुछ किया जा चुका है परन्तु पंजाब में नशीले पदार्थ की तस्करी लगातार पाकिस्तान द्वारा की जाती है और नेपाल, कश्मीर, दिल्ली, कांडला और अन्य स्थानों से भी नशीले पदार्थ पंजाब में आते हैं। उन्होंने कहा नशों के कोढ़ से निपटने के लिए अब हमारी सरकार ने पड़ोसी राज्यों के साथ मिलकर काम करना शुरू किया है।
मुख्यमंत्री ने केंद्र में मौजूदा भाजपा सरकार पर रोष प्रकटाते हुये कहा कि केवल कांग्रेस ही देश को फिर कामयाबी की राह पर ला सकती है। आसाम में नागरिकता के मामले के सम्बन्ध में बोलते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि एन.आर.सी. रिवीजऩ के नाम पर लोगों के साथ किये जा रहे जबरदस्ती का कांग्रेस डट कर विरोध करती है और ऐसे पीडि़तों के हमेशा साथ देगी। उन्होंने कहा कि देश के लिए 24 साल तक फ़ौज में लडऩे वाले सैनिक को विदेशी घोषित किस तरह किया जा सकता है।
मुख्यमंत्री के साथ अन्यों के अलावा कैबिनेट मंत्री विजय इंद्र सिंगला, लोक सभा मैंबर रवनीत सिंह बिट्टू और डा. अमर सिंह, विधायक कुशलदीप सिंह किक्की ढिल्लों और पूर्व लोक सभा मैंबर अमरीक सिंह आलीवाल उपस्थित थे। 

-  सुनीलराय कामरेड
Tags : ,Amarendra Singh,Doaba,Dera Sachkhand Ball,Punjab,area,Phagwara,Dera Sachkhand Balla,Jalandhar
facebook twitter