+

3,592 करोड़ से अधिक की बैंक धोखाधड़ी में फ्रॉस्ट इंटरनेशनल, उसके निदेशकों पर केस

अधिकारियों ने कहा कि बैंक का आरोप है कि निदेशकों ने बैंक ऑफ इंडिया के अगुवाई वाले ऋणदाता बैंकों के समूह को भुगतान करने में चूक की है।
3,592 करोड़ से अधिक की बैंक धोखाधड़ी में फ्रॉस्ट इंटरनेशनल, उसके निदेशकों पर केस
नई दिल्ली : केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने 14 बैंकों के समूह के साथ 3,592 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी के सिलसिले में मुंबई की कंपनी फ्रॉस्ट इंटरनेशनल, उसके निदेशकों उदय देसाई और सुजय देसाई के अलावा 11 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

सीबीआई अधिकारियों ने कहा कि यह कार्रवाई बैंक ऑफ इंडिया के कानपुर जोन कार्यालय की शिकायत पर की गई है। बैंक का आरोप है कि निदेशकों का कोई वास्तविक कारोबार नहीं है फिर भी उन्होंने कर्ज लेने के लिए व्यापारिक गतिविधियों की आड़ ली। 

अधिकारियों ने कहा कि बैंक का आरोप है कि निदेशकों ने बैंक ऑफ इंडिया के अगुवाई वाले ऋणदाता बैंकों के समूह को भुगतान करने में चूक की है। उन्होंने कहा कि कंपनी और उसके निदेशकों, जमानतदारों और अन्य अज्ञात लोगों ने फर्जी दस्तावेज जमा किए और बैंक से ली गई पूंजी की हेराफेरी कर उसे दूसरी जगह भेज दिया। 

facebook twitter