नहीं घटी सीबीएसई फीस तो खर्च उठाएगी दिल्ली सरकार

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा फीस बढ़ाने के फैसले को उचित न ठहराते हुए दिल्ली सरकार ने इसे वापस लेने की अपील की है। उप मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि परीक्षा फीस बढ़ने के बाद गरीब वर्ग के बच्चों और उनके अभिभावकों पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा। ऐसे में सीबीएसई को इस बारे में सोचते हुए बढ़ाई गई फीस के फैसले को वापस लेने पर विचार करना चाहिए। 

वहीं उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो गरीब वर्ग के सभी बच्चों की फीस का खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। वहीं शिक्षाविदों और स्कूल मैनेजमेंट कमेटी(एसएमसी) सदस्यों का भी यह कहना है कि सीबीएसई द्वारा परीक्षा फीस बढ़ने से गरीब तबके के बच्चों पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा। 

साथ ही उनकी पढ़ाई भी प्रभावित होगी। सरकारी स्कूलों की बात करें तो यहां ऐसे कई छात्र-छात्राएं हैं जो बढ़ी हुई फीस देने में असमर्थ हैं। ऐसे में फीस बढ़ने के फैसले से बच्चों को दिक्कत हो सकती है। 

Download our app
×