नो बिल - नो पेमेंट को लेकर मध्य रेलवे ने चलाया जागरूकता अभियान

मध्य रेलवे (सीआर) ने नो बिल - नो पेमेंट पॉलिसी को लेकर जागरूकता फैलाने के अपने प्रयासों को नए सिरे से तेज करने के लिए मुम्बई संभाग के सभी स्टेशनों पर ‘डिजिटल पेमेंट गेटवे’ की सुविधा उपलब्ध कराई है। भारतीय रेलवे ने पिछले साल एक योजना पेश की थी। इसमें यात्रियों से अधिक पैसे ना वसूले जाने और हर चीज का बिल मुहैया कराना सुनिश्चित करने पर जोर दिया गया था। 

सीआर के प्रमुख प्रवक्ता सुनील उदासी ने कहा, ‘‘कैटरिंग सेवा के लिए डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए ‘नो बिल - नो पेमेंट’ से जुड़ी एक विशेष मुहिम दो जुलाई से 11 जुलाई के बीच चलाई गई, जिसमें यह सुनिश्चित किया गया कि यात्रियों को सभी कैटरिंग इकाई से सामान लेने पर ई-बिल दिया जाए।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘जन जागरण के लिए स्टेशन पर नियमित रूप से घोषणाएं भी की जाएंगी।’’ उदासी ने कहा कि सीआर ने पहल शुरू करने से पहले सुनिश्चित किया था कि ‘डिजिटल पेमेंट गेटवे’ मुम्बई संभाग के सभी स्टालों पर उपलब्ध हो। उन्होंने कहा, ‘‘सीआर ने व्यापक व्यवस्था की। यात्री अब नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और पेटीएम, गूगल पे, फोनपे और भीम जैसी ऑनलाइन पेमेंट के विकल्पों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।’’ 

उन्होंने बताया कि अधिकारी नियमित रूप से रेलवे स्टॉलस का दौरा भी करते हैं। सीआर के एक वरिष्ठ वाणिज्यिक अधिकारी के अनुसार, अधिक पैसे वसूलने की ज्यादातर शिकायतों का कारण खाद्य विक्रेताओं का यात्रियों को बहाने बना कर बिल देने से मना करना है। 
Tags : ,Central Government