राजनीति से एक नहीं हो सकता चौटाला परिवार : दुष्यंत चौटाला

रोहतक : जजपा कर्मचारी प्रकोष्ठ की प्रदेश स्तरीय बैठक शनिवार को नए बस स्टैंड स्थित पार्टी कार्यालय में सुप्रीमों एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाने का आह्वान किया। साथ ही उन्होंने 22 सिंतबर को गोहाना रोड स्थित मेला ग्राउड में ताऊ देवीलाल की जयंती पर होने वाली समान रैली का भी निमंत्रण दिया और कार्यकत्र्ताओं की डयूटियां सौंपी। उन्होंने कहा कि यह रैली प्रदेश के इतिहास के सभी रिकार्ड तोडेगी। 

पूर्व सांसद ने भाजपा सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि पांच साल में भाजपा ने प्रदेश के लोगों से किया एक भी वायदा पूरा नहीं किया। आज सरकार की जनविरोधी नीतियों से हर वर्ग में भारी रोष है। उन्होंने कहा कि भाजपा की गलत नीतियों के कारण आज देश की अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट आई है। प्रदेश में औद्योगिक ईकाईयां बंद होने के कगार पर पहुंच गई है और लाखों युवाओं को रोजगार से हाथ धोना पड़ा है। पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा ने पारदर्शिता व ईमानदारी का झूठा राग अलाप कर लोगों को गुमराह कर रही है, जबकि भाजपा ने भ्रष्टाचार के सभी रिकार्ड तोड़ दिए है। 

बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जजपा विधानसभा चुनाव अकेले लडेगी। बीएसपी द्वारा गठबंधन तोड़े जाने के सवाल पर पूर्व सांसद ने कहा कि यह गठबंधन बीएसपी ने खुद तोड़ा है और इसके पीछे बीएसपी की लालसा कुछ और ही है। खाप नेताओं द्वारा चौटाला परिवार को एक करने के सवाल पर जजपा सुप्रीमों दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जब हमें इनेलो पार्टी से निकाला गया तब हमारे साथ कोई भी नहीं खड़ा था। उन्होंने कहा अगर परिवार एक करने की बात है तो इनेलो सुप्रीमों ओमप्रकाश चौटाला जहां भी बुलाएंगे हम चले आएंगे, लेकिन जब राजनीति में जजपा का अपना वजूद बना है तब खाप नेताओं को भी परिवार एक करने की याद आ रही है। 

उन्होंने कहा कि चौधरी अजय सिंह चौटाला ने भी स्पष्ट कर दिया है कि वह परिवारिक तौर पर एक हो सकते हैं, लेकिन राजनीतिक तौर पर कभी भी आपस में नहीं मिल सकते। पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने खाप नेता रमेश दलाल पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि केवल एक नेता पूरी खाप नही हो सकता। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा भाजपा नेता की गर्दन काटने पर भी प्रतिक्रिया दी और कहा कि मुख्यमंत्री सता के नशे में चूर है, लेकिन प्रदेश की जनता चुनाव में उन्हें आईना दिखा देगी। 

इस अवसर पर कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष संजीव मंडोला, जिला प्रधान बलवान सिंह सुहाग,  बीसी सेल प्रदेश अध्यक्ष राममेहर ठाकुर, सत्यपाल मलिक, महाबीर राठी, राम कुमार शर्मा, जगदेव राणा, सुरेश कुमार, सत्येंद्र, वजीर सिंह दहिया, बन्नी सिंह, बलवंत सिंह, रामचंद्र, अनिल गिरावड प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,Dushyant Chautala