+

नक्सली हमले में लापता जवान की बेटी की भावुक अपील, प्लीज अंकल मेरे पापा को छोड़ दो.........

नक्सली हमले में लापता जवान राकेश्वर सिंह मनहास की बेटी मीडिया के सामने रोते हुए कह रही है कि "मेरे पापा जल्दी आ जाएं।"
नक्सली हमले में लापता जवान की बेटी की भावुक अपील, प्लीज अंकल मेरे पापा को छोड़ दो.........
छत्तीसगढ़ नक्सल हमले में 22 जवान शहीद हुए है, वहीं राकेश्वर सिंह मनहास नाम के एक जवान एनकाउंटर के बाद से ही लापता हैं। जानकारी के मुताबिक, कोबरा कमांडों को नक्सलियों द्वारा बंधक बनाया गया है। इस बीच लापता जवान की पांच वर्षीय बेटी रोते हुए नक्सलियों से अपने पिता को छोड़ने की अपील कर रही है। 

लापता जवान राकेश्वर सिंह मनहास की बेटी मीडिया के सामने रोते हुए कह रही है कि "मेरे पापा जल्दी आ जाएं।" नक्सलियों से भावुक अपील करते हुए बच्ची ने कहा, "नक्सल अंकल प्लीज मेरे पापा को छोड़ दो"। बच्ची के आंसू देख वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंखों से आंसू बहने लगे। इस दौरान राकेश्वर की पत्नी मीनू ने पत्रकारों से कहा, "हमें समाचार चैनलों से हमले के बारे में और उनके लापता होने के बारे में पता चला। सरकार या सीआरपीएफ में से किसी ने भी हमें इस घटना की जानकारी नहीं दी।"
कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास के लापता होने की खबर सुनने के बाद से ही उनका परिवार गहरे सदमे में हैं। कमांडो की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है। सीआरपीएफ ने कुछ अधिकारियों को राकेश्वर सिंह के घर भेजा है और उन्हें इस बात का भरोसा दिलाया है कि वे जवान के नक्सलियों के कब्जे में होने की बात का पता लगा रहे हैं।
गौरतलब है कि शनिवार को बीजापुर में हुए नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हुए हैं। जबकि अब भी एक जवान लापता है। करीब 31 जवान घायल हैं। हमले में 8 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए जबकि एक लापता है। वहीं राज्य पुलिस के 14 जवान शहीद हुए हैं। कुल 22 शव बरामद किए गए हैं।


facebook twitter instagram