+

मुख्यमंत्री पद 5 साल के लिए शिवसेना के पास ही रहेगा, नहीं हो सकता कोई समझौता : राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार में मुख्यमंत्री का पद पांच साल के कार्यकाल में शिवसेना के पास ही रहेगा और यह कुछ ऐसा है जिस पर कोई ‘समझौता’ नहीं किया जा सकता।
मुख्यमंत्री पद 5 साल के लिए शिवसेना के पास ही रहेगा,  नहीं हो सकता कोई समझौता : राउत
शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार में मुख्यमंत्री का पद पांच साल के कार्यकाल में शिवसेना के पास ही रहेगा और यह कुछ ऐसा है जिस पर कोई ‘समझौता’ नहीं किया जा सकता।
राज्य में भाजपा की पुरानी सहयोगियों में से एक शिवसेना ने मुख्यमंत्री पद साझा करने के मुद्दे पर भगवा दल का साथ छोड़ दिया था और प्रतिद्वंद्वी राकांपा और कांग्रेस के साथ 2019 में हाथ मिलाकर एमवीए सरकार बनाई थी।नासिक में संवाददाताओं से राउत ने कहा, ‘‘एमवीए सरकार में शिवसेना के पास ही मुख्यमंत्री का पद रहेगा। यह प्रतिबद्धता है और इस पद को साझा नहीं किया जा सकता है। इस पर कोई समझौता नहीं होगा।’’
राउत दरअसल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। पटोले ने कहा था कि 2024 के विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस राज्य की बड़ी पार्टी होगी। राउत ने कहा कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है, जिसमें यह कहा जा रहा है कि पटोले मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं।उन्होंने कहा, ‘‘किसी भी पद पर पहुंचने की इच्छा रखने में कोई बुराई नहीं है। सभी पार्टियों में कई नेता दावेदार हैं। कांग्रेस में कई नेता देश का नेतृत्व करने में भी सक्षम हैं।’’
राउत ने कहा कि एमवीए ऐसी तीन पार्टियों का गठबंधन है, जिसकी विचारधारा अलग-अलग है।वहीं चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की राकांपा प्रमुख शरद पवार के साथ हाल में हुई बैठक के संदर्भ में पूछे गए एक सवाल के जवाब में राज्य सभा सांसद ने कहा कि किशोर कई नेताओं से मिले हैं और नरेंद्र मोदी के लिए भी काम कर चुके हैं।उन्होंने कहा, ‘‘ अगर सभी विपक्षी दल नरेंद्र मोदी को 2024 में टक्कर देने के लिए साथ आते हैं तो इसमें गलत क्या है?’’
facebook twitter instagram