चीन ने तिब्बत में हिरासत शिविर होने की खबरों का खंडन किया

चीन ने शुक्रवार को उन खबरों को ‘‘पूरी तरह से असत्य’’ बताते हुये खारिज कर दिया है जिनमें कहा गया था कि उसने तिब्बत में शिनजियांग-जैसे विशाल हिरासत शिविर बनाए हैं। निर्वासित तिब्बत सरकार के प्रमुख लोबसांग सांगे ने इस महीने की शुरूआत में  एक साक्षात्कार में कहा था कि तिब्बत में ऐसे हिरासत शिविर मौजूद हैं। 

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग से जब शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में चीन के तिब्बत में ऐसे शिविर बनाने की खबरों के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा, ‘‘इस रिपोर्ट में जो कुछ बताया गया है वह पूर्ण रूप से असत्य है।’’ सांगे ने ‘‘हार्ड टॉक’’ कार्यक्रम में एक जुलाई को कहा था कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के शिनचियांग के सचिव चेन छुआंगू पहले तिब्बत के पार्टी के सचिव थे। 

सांगे ने दावा किया कि चेन ने पांच सालों से वही दमनकारी नीतियां अपनाईं जो उन्होंने शिनजियांग में एक साल में अपनाईं।इस बीच अशांत शिनजियांग के शिविरों में जहां तुर्किस मूल के 110 लाख उईगूर मुसलमान रहते हैं, को लेकर चीन को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। 


Download our app