+

चीन को भारतीय सेना द्वारा पकड़े गए उसके भटके हुए सैनिक को जल्द छोड़े जाने की आस

चीन ने मंगलवार को उम्मीद जतायी कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना द्वारा पकड़े गए उसके भटके हुए सैनिक को जल्द छोड़ दिया जाएगा।
चीन को भारतीय सेना द्वारा पकड़े गए उसके भटके हुए सैनिक को जल्द छोड़े जाने की आस
चीन ने मंगलवार को उम्मीद जतायी कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना द्वारा पकड़े गए उसके भटके हुए सैनिक को जल्द छोड़ दिया जाएगा। 
चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के एक सैनिक को पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में सोमवार को उस समय पकड़ लिया गया जब वह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर ‘‘भटक कर’’ भारतीय क्षेत्र में आ गया था। 
यह घटना ऐसे समय हुयी है जब सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों ने क्षेत्र में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती कर रखी है। 
भारतीय सेना ने सोमवार को एक बयान में कहा था कि चीनी सैनिक की पहचान कॉर्पोरल वांग या लान्ग के रूप में की गयी है और सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद चुसुल-मोल्डो सीमा चौकी पर उसे चीनी सेना को सौंप जाएगा। 
पीएलए के ‘वेस्टर्न थिएटर कमांड’ के प्रवक्ता वरिष्ठ कर्नल झांग शुइली ने सोमवार रात एक बयान में कहा, ‘‘चीन को उम्मीद है कि 18 अक्टूबर की शाम स्थानीय चरवाहों के अनुरोध पर एक याक को वापस लाने में मदद करने के दौरान चीन-भारत सीमा इलाके में भटक गए चीनी सैनिक को भारत जल्द वापस कर देगा।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘पीएलए सीमा सैनिकों ने घटना के बाद भारतीय सेना को सूचित किया और उम्मीद की कि भारतीय पक्ष खोज एवं बचाव अभियान में सहायता करेगा एवं भारतीय पक्ष ने मदद करने और मिलने पर लापता सैनिक को समय पर वापस करने का वादा किया।’’ 
कर्नल झांग ने कहा कि भारत की ओर से मिली ताजा जानकारी के अनुसार भटक गया चीनी सैनिक मिल गया है और उसे चिकित्सकीय जांच के बाद चीन के हवाले किया जाएगा। 
झांग ने कहा, ‘‘ हम आशा करते हैं कि भारतीय सेना जल्द से जल्द लापता चीनी सैनिक को सौंपने के अपने वादे पर खरी उतरेगी और वरिष्ठ कमांडरों की सातवें दौर की बैठक में दोनों पक्षों में हुई सहमति का पालन करेगी ताकि सीमावर्ती क्षेत्र में शांति बनी रहे।’’ 
मंगलवार को नियमित प्रेस ब्रीफिंग में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान से सवाल किया गया कि क्या लापता पीएलए सैनिक पर कोई ताजा जानकारी है। 
इस पर उन्होंने कहा कि पीएलए के वेस्टर्न थियेटर कमान के प्रवक्ता कर्नल झांग ने इस चीनी सैनिक के बारे में पहले ही बयान जारी किया है जो चरवाहों की मदद करते हुए चीनी -भारत सीमा क्षेत्र में लापता हो गया है। 
झाओ ने कहा, ‘‘ भारतीय पक्ष सहयोग करने को राजी हो गया है और वादा किया है कि मिल जाने के बाद चीनी सैनिक को वह समय से सौंप देगा। बाद में भारतीय पक्ष ने चीनी पक्ष को सूचित किया कि उसे एक लापता चीनी व्यक्ति मिला है जिसे मेडिकल परीक्षण के बाद सौंपा जाएगा।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘हम आशा करते हैं कि भारतीय पक्ष अपने वादे पर खरा उतरेगा और जल्द से जल्द लापता चीनी सैनिक को सौंपेगा तथा वरिष्ठ कमांडरों की सातवें दौर की बैठक में दोनों पक्षों में हुई सहमति का पालन करेगी ताकि सीमावर्ती क्षेत्र में शांति बनी रहे।’’  
facebook twitter instagram