+

चीन का अमेरिका पर उसी के अंदाज में पलटवार, बौखलाकर की बड़ी कार्यवाही

चीन ने लोकतंत्र की हिमायत करने वाले 11 अमेरिकी नेताओं और संगठनों के प्रमुखों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। इनमें सीनेटर मार्कों रूबियो और टेड क्रूज भी शामिल हैं।
चीन का अमेरिका पर उसी के अंदाज में पलटवार, बौखलाकर की बड़ी कार्यवाही
बीजिंग : चीन ने लोकतंत्र की हिमायत करने वाले 11 अमेरिकी नेताओं और संगठनों के प्रमुखों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। इनमें सीनेटर मार्कों रूबियो और टेड क्रूज भी शामिल हैं। हालांकि, प्रतिबंध के बारे में यह नहीं बताया गया है कि ये किस तरह के होंगे। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने सोमवार को कहा कि इन 11 नेताओं एवं संगठन प्रमुखों ने हांगकांग से जुड़े मुद्दों पर गलत गतिविधियां की। 
उल्लेखनीय है चीन ने पिछले महीने अर्द्ध-स्वायत्त चीनी शहर हांगकांग में अपने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को थोपे जाने के बाद विरोध की आवाज दबाने के लिये कार्रवाई की थी। चीन के विदेश मंत्रालय ने जितने अमेरिकी नेताओं एवं संगठन प्रमुखों पर प्रतिबंध लगाया है, उनकी संख्या हांगकांग और चीन के उन अधिकारियों के बराबर है जिन पर अमेरिका ने पिछले हफ्ते कार्रवाई करते हुए प्रतिबंध लगाया था। 
इस बीच, चीन ने प्रमुख स्वतंत्र मीडिया उद्योगपति जिम्मी लाई को गिरफ्तार कर और प्रकाशक के मुख्यालय में छापा मार कर सोमवार को इस तरह के दबाव के आगे नहीं झुकने की अपनी दृढ़ता प्रदर्शित की। 
चीन के विदेश मंत्रालय ने प्रतिबंधित किये गये अन्य अमेरिकी नेताओं के नाम सीनेटर जोश हावले और टॉम कॉटन तथा हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव के सदस्य क्रिस स्मिथ बताये हैं। इसके अलावा नेशनल इंडोवमेंट फॉर डेमोक्रेसी और फ्रीडम हाउस सहित अन्य संगठनों के प्रमुखों के नाम भी प्रतिबंध सूची में शामिल हैं। 
बीजिंग ने पिछले महीने रूबियो, क्रूज और स्मिथ पर यात्रा प्रतिबंध लगाया था। दरअसल, अमेरिका ने घोषणा की थी कि वह चीन के उत्तरी पश्चिमी क्षेत्र शिंजियांग में मुसलमानों के खिलाफ की गई कार्रवाई से संबद्ध चीनी अधिकारियों के खिलाफ इसी तरह के कदम उठाएगा। 
facebook twitter