+

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप बोले- चीनी वायरस को दुनिया में फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए

ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के लिए एक वीडियो बयान में कहा, ‘‘द्वितीय विश्व युद्ध के अंत और संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75 साल बाद, हम एक बार फिर एक बड़ी वैश्विक लड़ाई में लगे हुए हैं।
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप बोले- चीनी वायरस को दुनिया में फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि ‘‘चीनी वायरस’’ की महामारी को नियंत्रित करने में विफल रहने के लिए संयुक्त राष्ट्र को चीन को जिम्मेदार ठहराना चाहिए। कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया में लगभग दस लाख लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें दो लाख अमेरिकी नागरिक शामिल हैं।

ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के लिए एक वीडियो बयान में कहा, ‘‘द्वितीय विश्व युद्ध के अंत और संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75 साल बाद, हम एक बार फिर एक बड़ी वैश्विक लड़ाई में लगे हुए हैं। हमने अदृश्य दुश्मन - चीन वायरस - के खिलाफ एक भयंकर लड़ाई छेड़ दी है, जिसने 188 देशों में कई लोगों की जान ले ली है।’’

ट्रंप ने मांग की कि चीन, जहां से कोरोना वायरस सामने आया है, को इस वायरस को काबू में करने के लिए विफल रहने पर जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘जैसा कि हम उज्ज्वल भविष्य चाहते हैं, हमें उस राष्ट्र को जवाबदेह ठहराना चाहिए जिसने इस महामारी को दुनिया में फैलाया।’’

ट्रंप ने कहा कि चीन ने उनके देश (अमेरिका) में उनके यात्रा प्रतिबंध की निंदा की, लेकिन वही उन्होंने (चीन) घरेलू उड़ानों को रद्द कर दिया और नागरिकों को उनके घरों में बंद कर दिया। ट्रंप ने कहा, ‘‘वायरस के शुरुआती दिनों में चीन ने घरेलू उड़ानों को तो बंद कर दिया लेकिन उड़ानों को चीन से बाहर जाने और दुनिया को संक्रमित करने की अनुमति दी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘चीनी सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह गलत घोषणा की कि इस संक्रमण के मानव से मानव में फैलने का का कोई सबूत नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका टीकों का वितरण करेगा और इस महामारी को समाप्त करेगा।

facebook twitter