सरकार में सीआईडी विवाद पर भी सीआईडी बैठानी पड़ेगी

सिरसा : प्रदेश के मुख्यमंत्री व गृहमंत्री के बीच सीआईडी-सीआईडी चल रहा है। सीआईडी को लेकर इतना विवाद बढ़ गया है कि इस पर भी सीआईडी बैठानी पड़ेगी। सरकार मुद्दों से जनता को भटकाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिलाओं, दलितों पर अपराध बढ़ रहे है, सरकार को इसका जवाब देना ही होगा। 

यह बात कांग्रेस की प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने पत्रकारों से रूबरू होते हुए कही। वह सिरसा में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करने पहुंची। उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनाव में कांग्रेस अच्छा प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि जो कार्यकर्ता जी जान से पार्टी के लिए मेहनत करेगा वो ही पार्टी संगठन व सरकार आने पर सम्मान का हकदार होगा।बता दें कि इससे एक दिन पहले हिसार में भी कुमारी शैलजा ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला था। 

शैलजा ने कहा था कि विज और सीएम जनता का असल मुद्दों से ध्‍यान भटकाने के लिए सीआईडी किसके पास है, यह खेल, खेल रहे हैं। सीआईडी गृह मंत्री अनिल विज और सीएम मनोहर लाल में से किसके पास रहेगी यह क्‍या सुनिश्चित नहीं हो सकता। शैलजा ने अन्‍य कई विषयों पर सरकार को घेरा था।

सीएए से दी संविधान के आधार को चुनौती
कुमारी शैलजा ने नागरिकता संशोधन कानून पर केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि धर्म के नाम पर भेदभाव नहीं करेंगे, संविधान के इस आधार को ही चुनौती दी है। किसी भी देश के प्रताडि़त लोगों को शरण दी जा सकती है। ये लोग देश के बंटवारे की बात कर रहे है। सरकार के इस कदम से सबसे ज्यादा नुकसान गरीब व दलित लोगों को होगा।

कई जगह फाड़े पोस्टर
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा के सिरसा आगमन पर पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा जगह जगह पर पोस्टर व फ्लेक्स लगाए गए थे। हिसार रोड व हुडा चौक पर कई जगहों पर लगे पोस्टर फाड़ दिये गए। हालांकि इस बारे में किसी ने भी शिकायत दर्ज नहीं करवाई।
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,CID,dispute,government,CID-CID,Chief Minister,Home Minister,state