शहर की सरकार, अब होगी पेंशन की हकदार

चंडीगढ : प्रदेश के नगर निगम में मेयर, सीनीयर डिप्टी मेयर, डिप्टी मेयर, नगर परिषद प्रधान, नगर पालिका प्रधान अब पेंशन के हकदार होंगे। हरियाणा दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा शहर की सरकार के लिए की गई इस योजना को मंजूरी के साथ ही अमलीजामा पहनाया गया है। पंचायती राज संस्थाओं के प्रधानों की तर्ज पर शहरी निकाय संस्थाओं में भी बीते पांच चुनावों में बने मेयर से लेकर प्रधान को इसका सीधा लाभ मिलेगा।

आज यहां जानकारी देते हुए शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल निरंतर पंचायती राज संस्थाओं से लेकर शहरी निकाय संस्थाओं को मजबूती देने की दिशा में निरंतर कदम बढा रहे हैं। ग्रामीण-शहरी विकास में बेहतर समन्वय एवं शानदार योजनाएं फलीभूत हों, इसके लिए अंतर जिला परिषद का गठन जैसे प्रयास सराहनीय हैं। 

मंत्री कविता जैन ने कहा कि 1 नवंबर 2018 को पानीपत में एक रैली के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निकाय संस्थाओं के मुखिया को पेंशन देने की घोषणा की थी। अब शहरी स्थानीय निकाय द्वारा तैयार इस प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मुहर लगाई है, जिसके अनुसार बीते पांच चुनाव के दौरान नगर निगम के भूतपूर्व मेयर को चार हजार रूपए मासिक, सीनीयर डिप्टी मेयर को तीन हजार रूपए मासिक, डिप्टी मेयर को दो हजार रूपए मासिक, नगर परिषद प्रधान को दो हजार रूपए मासिक तथा नगर पालिका प्रधान को 1500 रूपए मासिक देना निर्धारित किया गया है। 

मंत्री कविता जैन ने बताया कि वर्तमान में 14 मेयर, 14 वरिष्ठ उप मेयर, 14 उपमेयर व 38 प्रधान निगम बनने से पूर्व परिषद के प्रधान, नगर परिषद के भूतपूर्व 88 प्रधान एवं नगर पालिका के 172 प्रधान को पेंशन का लाभ मिलेगा।
Tags : ,City government