+

स्वच्छता जन आंदोलन बन गया है : राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि ‘स्वच्छ भारत अभियान’ एक जन आंदोलन बन गया है जो मोदी सरकार की एक ‘‘बड़ी उपलब्धि’’ है।
स्वच्छता जन आंदोलन बन गया है : राजनाथ
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि ‘स्वच्छ भारत अभियान’ एक जन आंदोलन बन गया है जो मोदी सरकार की एक ‘‘बड़ी उपलब्धि’’ है। 

दिल्ली छावनी क्षेत्र में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि बच्चे ‘स्वच्छता’ के दूत बन गए हैं। 

उन्होंने प्लॉगिंग (सैर करते या दौड़ते वक्त कचरा बीनने) जागरूकता पर विशेष अभियान को भी हरी झंडी दिखाई और कहा कि लोग प्लास्टिक इस्तेमाल करने के नकारात्मक पहलू को समझ गए हैं। बाद में उन्होंने इस अभियान में भाग भी लिया। 

रक्षा मंत्री ने कहा कि ‘स्वच्छता अभियान’ में लोगों की भागीदारी लगातार बढ़ रही है। 

सिंह ने कहा, ‘‘महात्मा गांधी ने देश की आजादी के लिए एक अभियान चलाया था जिसे हम ‘सत्याग्रह’ आंदोलन के नाम से जानते हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘स्वच्छता’ का अभियान चलाया है जिसे ‘स्वच्छाग्रह’ के तौर पर जाना जाता है और इसकी सफलता देशभर में देखी जा रही है।’’ 

केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक भी इस कार्यक्रम में मौजूद रहे। उन्होंने लोगों से अपनी दिनचर्या में प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने को कहा। 

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक स्कूली छात्रों सहित 3,000 से अधिक लोगों ने प्लॉगिंग और एकल उपयोग वाले प्लास्टिक को एकत्र करने के अभियान में हिस्सा लिया। 

रक्षामंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत देश में 10.60 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं, अब एकल उपयोग वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल में कमी लाने की बारी है। 

उन्होंने अपील की, ‘‘चलें हम एकल उपयोग वाले प्लास्टिक के खिलाफ जागरूकता पैदा करें।’’ 

मंत्रालय ने कहा कि उसने शनिवार को पूरे देश में 400 से अधिक स्थानों पर प्लॉगिंग कार्यक्रम आयोजित किया। 

मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक सेना के तीनों अंगो, भारतीय तटरक्षक गार्ड, रक्षा मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम, आयुध कारखाना बोर्ड (ओएफबी), छावनी बोर्ड, नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी), सीमा सड़क संगठन और रक्षा से जुड़े विभिन्न प्रतिष्ठानों ने देश के अलग-अलग हिस्सों में इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित किए। 

बयान में कहा गया कि वृहद पैमाने पर आयोजित कार्यक्रम का उद्देश्य समाज में प्लास्टिक कचरे को एकत्रित करने और परिवेश को साफ रखने के लिए जागरूक करना था। 

इस कार्यक्रम के लिए नारा था ‘‘ प्लास्टिक से रक्षा-स्वच्छता ही सुरक्षा।’’ 
facebook twitter