+

CM गहलोत बोले-BJP में गुटबाजी चरम पर पहुंची, विधायकों को बचाने के लिए की जा रही है बाड़बंदी

जैसलमेर में अपने समर्थक विधायकों से मिलने पहुंचे अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी के कैलाश मेघवाल पहले ही कह चुके है कि चुनी हुई सरकार को गिराने का षडयंत्र गलत परंपरा है।
CM गहलोत बोले-BJP में गुटबाजी चरम पर पहुंची, विधायकों को बचाने के लिए की जा रही है बाड़बंदी
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि देश का दुर्भाज्ञ हैं कि ऐसे लोग सत्ता में बैठे हुए हैं जो लोकतंत्र को कमजोर करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सत्ता में है और बाड़बंदी बीजेपी कर रही है। इससे साफ लगता है कि उनका षड़यंत्र सफल नहीं हो रहा। 
जैसलमेर में अपने समर्थक विधायकों से मिलने पहुंचे अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी के कैलाश मेघवाल पहले ही कह चुके है कि चुनी हुई सरकार को गिराने का षडयंत्र गलत परंपरा है। बीजेपी के कई विधायक भी ऐसा मानते हैं। उन्होंने कहा कि अब बीजेपी अपने विधायकों की तीन-चार अलग स्थान पर समूहों में बाड़बंदी कर रही है। 
गहलोत ने कहा कि जब राज्य में कांग्रेस की सरकार है तो फिर बीजेपी को अपने विधायकों की बाड़बंदी करने की नौबत क्यो आई? इससे जाहिर है कि बीजेपी में गुटबाजी चरम पर पहुंच गई है और आपसी फूट के कारण विधायकों को टूटने से बचाने के लिए बाड़बंदी की जा रही है।
उन्होंने कहा कि हम लोकतंत्र की रक्षा के लिए विधायकों को एकजुट कर रखे है। जीत हमारी होगी, क्योंकि जनता हमारे साथ है। यह देश का दुर्भाज्ञ है कि केंद्र में सत्ता में ऐसे लोग बैठे हैं जो संकट के समय में सरकार गिराने लगे हैं, जबकि इस समय लोगों का जीवन और रोजगार बचाने की जरूरत है। ऐसे लोग किस प्रकार शासन चला रहे हैं इसे समझा जा सकता है। 
उन्होंने कहा कि मैने खुद प्रधानमंत्री से बात की। गृह मंत्री अमित शाह के क्या बात करें? उनका रवैया किसी से छुपा नहीं है। केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान एवं पीयूष गोयल जिनका नाम वे पहले भी ले चुके हैं और ये सब मिलकर षडयंत्र रच रहे हैं। ये लोग लोकतंत्र को कमजोर कर रहे है। जिसे जनता ने 70 साल से सहेज कर रखा।
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि यह लड़ाई लोकतंत्र को बचाने के लिए है और यह 14 अगस्त के बाद भी जारी रहेगी। विजय हमारी होगी, विजय सत्य की होगी, विजय प्रदेशवासियों की होगी और विजय उन सभी विधायकों की होगी, चाहे वह पक्ष में हो या विपक्ष में। सभी विधायकों को पत्र लिखे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैंने सभी विधायकों को पत्र लिखा है और उनसे कहा है कि वे अपनी अंतरात्मा की बात सुने। साथ ही अपने क्षेत्र की जनता की आवाज सुनकर फैसला लें।
वसुंधरा राजे की दिल्ली में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात के बारे में जब सीएम से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बीजेपी क्या करती है, इसके बारे में मुझे कुछ मतलब नहीं है, लेकिन देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रही है। जिसको देश और प्रदेश की जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। 
अशोक गहलोत ने बागी विधायकों के बारे में कहा कि अधिकांश बागी वापस हमारे साथ आयेंगे, लेकिन यह चिंताजनक है कि उनकी सुरक्षा के लिए 200-200 पुलिसकर्मी तैनात किये जा रहे हैं। उनके परिवार वालों को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है और सुरक्षा का कड़ा पहरा है। एसओजी और एसीबी भी गई थी कानूनी रूप से बातचीत करने, लेकिन उन्हें भी नहीं मिलने दिया गया। 
उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेताओं सहित कांग्रेस के बागी विधायकों के खिलाफ घर-घर में गुस्सा है। ऐसे में 19 विधायक खुद समझ गए होंगे और उनमें से अधिकांश लोग वापस हमारे साथ आ जायेंगे।
facebook twitter