+

CM गहलोत ने REET परीक्षा के सफल आयोजन में सामाजिक संगठनों से मांगा सहयोग

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 26 सितंबर हो होने वाली राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) के सफल आयोजन के लिए विभिन्न राजनीति दलों व सामाजिक संगठनों से सहयोग मांगा है।
CM गहलोत ने REET परीक्षा के सफल आयोजन में सामाजिक संगठनों से मांगा सहयोग
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 26 सितंबर हो होने वाली राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) के सफल आयोजन के लिए विभिन्न राजनीति दलों व सामाजिक संगठनों से सहयोग मांगा है। राज्य में इस सबसे बड़ी परीक्षा में 16 लाख से अधिक परीक्षार्थी भाग लेंगे।
गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘26 सितंबर को आयोजित होने वाली रीट परीक्षा में 16.51 लाख अभ्यर्थी शामिल होंगे। यह राज्य की अभी तक की सबसे बड़ी परीक्षा होगी।’’ उन्होंने कहा, सरकार ने अभ्यर्थियों के लिए रोडवेज में निशुल्क यात्रा का इंतजाम किया है, लेकिन उनकी संख्या ज्यादा होने के कारण सभी के सहयोग की आवश्यकता है। 
जनसहयोग की अपेक्षा करते हुए उन्होंने लिखा है, ‘‘मैं सभी राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों व आमजन से अपील करता हूं कि व्यवस्था बनाने में प्रशासन तथा अभ्यर्थियों का सहयोग करें। बाहर से आने वाले अभ्यर्थियों को ठहरने, खाने आदि में यथासंभव मदद करें। कोई अफवाह ना फैलायें।’’
उल्लेखनीय है कि राजस्थान में लगभग 31,000 अध्यापकों की नियुक्ति के लिए पात्रता परीक्षा 26 सितंबर को होनी है। इस परीक्षा के लिए करीब 16.51 लाख परीक्षार्थियों ने आवेदन भरा है जिसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के समस्त कार्यालय तथा रीट से संबंधित समस्त सेवाओं को अत्यावश्यक सेवा घोषित किया है। यह परीक्षा करीब तीन साल बाद हो रही है और 26 सितंबर को इसका आयोजन दो पारियों में होगा। इसके लिए राज्य में 200 स्थानों 4,153 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।
facebook twitter instagram