+

UCC को लेकर CM शिवराज का बड़ा दावा, बोले - बनाएंगे कमेटी, कांग्रेस ने बताया छलावा

शिवराज सिंह बड़वानी जिले के ग्राम चाचरिया में पेसा जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने समान नागरिक संहिता को लेकर मध्यप्रदेश में कमेटी बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि देश में हर व्यक्ति के लिए समान कानून होना चाहिए।
UCC को लेकर CM शिवराज का बड़ा दावा, बोले - बनाएंगे कमेटी, कांग्रेस ने बताया छलावा
मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक बयान ने एक बार फिर से राज्य की राजनीती में हलचल पैदा कर दी है। यह बयान यूनिफॉर्म सिविल कोड यानी समान नागरिक संहिता के मुद्दे को लेकर आया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कॉमन सिविल कोड के लिए कमेटी बनाई जाएगी। जिसके बाद कांग्रेस ने उनके बयान को चुनावी झुनझुना करार दिया है। 
शिवराज के बयान पर कांग्रेस हमलावर 
दरअसल शिवराज सिंह बड़वानी जिले के ग्राम चाचरिया में पेसा जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने समान नागरिक संहिता को लेकर मध्यप्रदेश में कमेटी बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि देश में हर व्यक्ति के लिए समान कानून होना चाहिए। हर व्यक्ति को एक ही शादी करने का अधिकार होना चाहिए। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज के इस बयान पर कांग्रेस भी हमलावर हो गई है। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा के पास आने वाले चुनाव में मुद्दों की कमी है, इसलिये वह इस तरह के ध्रुवीकरण करने वाले मसले उठा रही है। 
शिवराज के बयान पर भाजपा नेताओं ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। गुजरात चुनाव में प्रचार के लिए गए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी शिवराज के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि इस वक़्त इसकी जरुरत है। 
अगले साल होगें राज्य में चुनाव 
बता दें कि मध्य प्रदेश में अगले साल चुनाव होने वाले हैं। चुनाव के मध्यनज़र सीएम शिवराज के इस बयान को बड़ा एहम माना जा रहा है। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने इसे भाजपा द्वारा चुनावी एजेंडा करार दिया है। यूनिफॉर्म सिविल कोड के मुद्दे पर भाजपा वोट हासिल करने की कोशिश कर सकती है। इससे पहले हिमाचल प्रदेश, गुजरात में भी भाजपा ने अपने मेनिफेस्टो में यूनिफॉर्म सिविल कोड का जिक्र किया है। अब देखना होगा कि शिवराज के इस बयान से मध्य प्रदेश की राजनीति में क्या बदलाव नज़र आता है। 
facebook twitter instagram