CM येदियुरप्पा बोले- अग्नि परीक्षा के समान थे सरकार के 100 दिन

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने मंगलवार को कहा कि राज्य में भीषण बाढ़ के कारण उनकी सरकार के पहले 100 दिन अग्नि परीक्षा के समान थे। उन्होंने कहा, ‘‘ये 100 दिन अग्नि परीक्षा की तरह थे। राज्य में पिछले 120 वर्षों में कभी भी इस तरह की बाढ़ नहीं देखी गई। जब सैकड़ों गाँव जलमग्न हो गए थे और हमने एक महीना उन बाढ़ प्रभावित इलाकों में बिताया तथा केंद्र सरकार से सहायता ली।’’ 

मुख्यमंत्री कन्नड़ में एक पुस्तक ‘‘दीना नूरू, साधने नूरू’’ (सौ दिन, सैकड़ों उपलब्धियां) के विमोचन के मौके पर बोल रहे थे। येदियुरप्पा ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के राहत के लिए उनकी सरकार द्वारा उठाए गए कदम पिछले 100 दिनों में सबसे बड़ी उपलब्धि हैं।

पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शन के दौरान लगाए नारे- 'हमारा कमिश्नर कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो

उन्होंने दावा किया कि किसी भी अन्य राज्य ने कभी इस पैमाने पर राहत कार्य नहीं चलाया। अधिकारियों, मंत्रियों और विधायकों ने बाढ़ प्रभावितों को राहत मुहैया कराने के लिए अपनी सीमा से आगे जाकर काम किया। उन्होंने जोर दिया कि आने वाले दिनों में राज्य का ध्यान किसानों, सिंचाई, आवास, बेंगलुरु के विकास, औद्योगिक विकास और पर्यटन में सुधार पर होगा। 

उन्होंने कहा कि बेंगलुरु उनकी सरकार का फोकस क्षेत्र रहा है। येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘मैंने शहर का एक बार दौरा किया। बेंगलुरु से हमारे विधायक और मंत्री शहर के विकास के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं। हमें और 100 दिन दीजिए...।’’ उन्होंने कहा कि शराब पर प्रतिबंध उनके एजेंडा में नहीं था। 
Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,CM Yeddyurappa,government,Karnataka,floods,state