+

सीएम योगी ने गोरखपुर में 300 बिस्तर का नया कोविड-19 अस्पताल तैयार करने का दिया निर्देश

मुख्यमंत्री ने बुधवार को गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कालेज का दौरा किया और संबद्ध अधिकारियों को 30 अगस्त तक नया 300 बिस्तर का कोविड-19 अस्पताल तैयार करने का निर्देश दिया।
सीएम योगी ने गोरखपुर में 300 बिस्तर का नया कोविड-19 अस्पताल तैयार करने का दिया निर्देश
पूरा देश इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है और उत्तर प्रदेश  में भी रोजाना संक्रमण के मरीजों के नए मामलों की संख्या में इजाफा हो रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को महामारी ने निपटने के लिए कड़े दिशा निर्देश दिए है।  
इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री ने बुधवार को गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कालेज का दौरा किया और संबद्ध अधिकारियों को 30 अगस्त तक नया 300 बिस्तर का कोविड-19 अस्पताल तैयार करने का निर्देश दिया। योगी ने 500 बिस्तर के निर्माणाधीन बाल चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कोरोना वायरस मरीजों की स्थिति और उपचार के बारे में जानकारी ली । 
उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि राज्य में 70 हजार टीमें कोविड-19 मरीजों का पता लगाने के लिए घर-घर सर्वेक्षण कर रही हैं । हर रोज एक लाख से अधिक नमूने जांचे जा रहे हैं । अधिक संख्या में जांच होने से राज्य में अधिक संख्या में कोविड-19 मरीजों की पहचान आसान हो रही है । 
मुख्यमंत्री ने बताया कि इस समय राज्य में कोविड-19 मरीजों के लिए 1 . 51 लाख से अधिक बिस्तर उपलब्ध हैं। जिन मरीजों में कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें घर पर पृथकवास में भेजा जा सकता है । लेकिन हमें याद रखना चाहिए कि अगर घर पर शौचालय सहित पृथक कमरा नहीं है तो मरीज को कोविड-19 अस्पताल जाना चाहिए । 
उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई जिलों, नेपाल के तराई वाले इलाकों और पश्चिमी बिहार के मरीज इलाज कराने गोरखपुर आते हैं । मरीजों की संभावित संख्या को ध्यान में रखते हुए ''मैंने निर्देश दिया है कि बीआरडी मेडिकल कालेज के बाल चिकित्सालय में 300 बिस्तर का नया कोविड-19 अस्पताल तैयार किया जाए ।'' 
योगी ने कहा कि 100 बिस्तर वाले टीबी चिकित्सालय में एल-2 और एल-3 की सुविधाओं सहित वेंटिलेटर और उपकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं । मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस को हराने के लिए प्रशिक्षण आवश्यक है और उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नये कोविड-19 अस्पतालों और सुविधाओं पर ध्यान केन्द्रित करने के साथ-साथ प्रशिक्षण पर भी जोर रहना चाहिए । उन्होंने महाराजगंज, कुशीनगर और देवरिया में कोविड-19 अस्पताल तैयार करने के निर्देश दिये । 
उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के उपचार के लिए सुविधाओं और दवाइयों की कमी नहीं है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में भारत ने कोविड-19 महामारी की चुनौती का कुशलता से सामना किया है । सरकार के लिए हर नागरिक का जीवन महत्वपूर्ण है और हम लोगों को कोरोना वायरस महामारी से बचाने के लिए हरसंभव कदम उठाएंगे। 
facebook twitter