+

CM योगी का उद्यमियों से संवाद, कहा- 'निवेश के लिए सुरक्षित और सकारात्मक माहौल की गारंटी देता हूं'

CM योगी का उद्यमियों से संवाद, कहा- 'निवेश के लिए सुरक्षित और सकारात्मक माहौल की गारंटी देता हूं'
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में निवेशक अनुकूल माहौल बनाने का कार्य हो रहा है। प्रदेश में उद्यमियों को निवेश सुरक्षा की गारंटी के साथ ही मौजूदा स्थिति को सुदृढ करने के लिये जिस भी सहयोग की जरूरत होगी प्रदेश सरकार वह कदम उठायेगी।

एक सरकारी बयान के मुताबिक शुक्रवार को फिक्की द्वारा आयोजित वेबीनार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उद्यमियों से बात की। उनके सवाल सुने और प्रदेश के विकास की तस्वीर उनके समक्ष रखी। मुख्यमंत्री ने उद्यमियों के सवालों का जवाब देते हुए कहा, ‘‘जब हम सत्ता में आए थे तो प्रदेश को लेकर गलत धारणाएं थी, लेकिन उसे दूर करने में उद्योग जगत ने सहयोग किया।

निवेशक सम्मेलन के बाद दो बार उद्योगों की स्थापना के काम की शुरुआत का आयोजन, रक्षा प्रदर्शनी का आयोजन उत्तर प्रदेश में हुआ। आबादी के लिहाज से उत्तर प्रदेश दुनिया के चार देशों के बाद आता है। इस लिहाज से कोरोना काल में चुनौतियां ज्यादा थीं। लेकिन जब चुनौतियां सामने आती हैं और सभी मिलकर सामूहिक प्रयास करते हैं तो उसका परिणाम बेहतर रूप में सामने आता है।’’

झारखंड सरकार ने लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाया, CM सोरेन ने ट्वीट करके दी जानकारी

उन्होंने कहा कि कोरोना संकट में समाज के सभी तबकों के साथ उद्योग जगत ने सरकार को भरपूर सहयोग किया। जब तक कोरोना का कोई व्यवस्थित उपचार नहीं आता तब तक सतर्कता बरतनी ही होगी। मुख्यमंत्री योगी ने कहा के उत्तर प्रदेश में निवेशक अनुकूल माहौल बनाने का कार्य हो रहा है।

निवेश की सुरक्षा के साथ-साथ अनावश्यक दखलअंदाजी न हो इसका ध्यान रखा जा रहा है। क्षेत्रवार नीति के माध्यम से यूपी सरकार ने आगे बढ़ने का काम किया है। श्रम सुधारों के क्षेत्र में भी प्रदेश सरकार ने सबसे पहले कदम उठाए क्योंकि रोजगार दिलाना राज्य सरकार की प्राथमिकता में है।

उन्होंने कहा कि जेवर में पिछले 25 साल से हवाईअड्डा बनाने का प्रस्ताव लंबित था लेकिन राज्य सरकार ने निर्णय लिया। यह दुनिया के 100 सबसे बेहतर परियोजनाओं में गिना जा रहा है। अयोध्या में भी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनाने की कार्रवाई तेजी से चल रही है।

प्रदेश के शहरों में हवाई सेवा संपर्क के लिए एचएल के साथ एमओयू किया है। प्रदेश को 54 मार्ग नेपाल और अन्य राज्यों के साथ जोड़ते हैं। इन्हें 4 लेन करने की कार्रवाई चल रही है। इस वर्ष के अंत में गंगा एक्सप्रेस वे का भी काम शुरू हो जायेगा।

इस कार्यक्रम में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, सिद्धार्थ नाथ सिंह, उद्योग विभाग से आलोक टंडन अपर मुख्य सचिव इंडस्ट्री आलोक कुमार अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल के अलावा फिक्की की ओर से अध्यक्ष संगीता रेड्डी, उदय शंकर, जेके मोदी, रूद्र चटर्जी, शरद जयपुरिया, ज्योत्सना सूरी, राकेश शाह, उमाशंकर भरतिया, विपुलराय जैसे उद्यमी शामिल हुए।
facebook twitter