+

सीएम योगी ने कहा- सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा बचाने के लिए खोई विधानसभा सदस्यता

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि खतौली सीट से भाजपा के पूर्व विधायक विक्रम सिंह सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा और आत्मसम्मान की रक्षा के लिए अपनी विधानसभा सदस्यता गंवाई है।
सीएम योगी ने कहा-  सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा बचाने के लिए खोई विधानसभा सदस्यता
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि खतौली सीट से भाजपा के पूर्व विधायक विक्रम सिंह सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा और आत्मसम्मान की रक्षा के लिए अपनी विधानसभा सदस्यता गंवाई है। खतौली सीट से दो बार भाजपा विधायक रहे सैनी को वर्ष 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों के मामले में अदालत द्वारा दो साल की सजा सुनाए जाने के चलते उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई है। इसी वजह से इस सीट पर उपचुनाव हो रहा है जिसके तहत आगामी पांच दिसंबर को मतदान होगा। भाजपा ने इस उपचुनाव में सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को उम्मीदवार बनाया है।
मुख्यमंत्री ने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विक्रम सैनी ने स्वाभिमान और सम्मान की रक्षा के लिए अपनी सदस्यता गंवाई। उन्होंने कहा कि राजनीतिक मुकदमे में तत्कालीन सपा सरकार ने उन पर झूठे मुकदमे दर्ज कराए और पेशेवर दंगाइयों को उसने प्रश्रय दिया तथा राष्ट्रीय लोकदल ‘‘दाल में तड़का डाल रहा था।’’
Chief Minister Yogi Adityanath in Khatauli and meerut today for Municipal  elections rally know program - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज खतौली और मेरठ  में, नगर निकाय चुनाव के लिए सभा को ...
योगी ने मुजफ्फरनगर दंगे भड़कने का कारण बताई जाने वाली कवाल गांव में तीन युवकों की हत्या के मामले का जिक्र करते हुए कहा, कवाल का बवाल सपा का कलंक है। यह सपा और राष्ट्रीय लोकदल के संयुक्त गठबंधन सरकार की देन थी, जो क्रूर अत्याचार नौजवानों और स्थानीय लोगों पर किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कवाल के बवाल के समय जब विक्रम सैनी जेल में थे तो राजकुमारी सैनी अकेले मजबूती से लड़ रही थीं और वह मूल्यों तथा मुद्दों से भटकी नहीं। वह गृहस्थी और गांव को बढ़ाते हुए तानाशाह सरकार के खिलाफ लड़ती रहीं। आप हिम्मत से रहिए, जो कमी होगी हमारा बुलडोजर पूरी कर देगा।’’ उन्होंने कहा कि ‘‘कवाल के बवाल’’ के समय सपा के नेता नहीं आ सकते थे, लेकिन लोकदल के नेता कहां थे। योगी ने कहा कि पहले कैराना और कांधला में ‘गुंडा टैक्स’ वसूली होती थी तथा सपा और लोकदल की जोड़ी फिर से ‘गुंडा टैक्स’ शुरू करने की साजिश रच रही है जो तालिबान जैसा शासन चाहती है, लेकिन ‘डबल इंजन’ की सरकार गुंडागर्दी को पनपने नहीं देगी। योगी ने कहा हम जब किसानों के मसीहा की बात करते हैं तो चौधरी चरण सिंह का स्मरण करते हैं। चौधरी साहब राजनीति में हमेशा अपराधियों का विरोध करते थे। पेशेवर माफिया अपराधियों को प्रश्रय देने वाले लोग चौधरी साहब के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की नीयत साफ है और विकास के लिए पैसे की कमी नहीं है। उन्होंने लोगों से बड़े अंतर से राजकुमारी सैनी को जिताने की अपील की।

facebook twitter instagram