+

कश्मीर में लगातार जारी शीतलहर का प्रकोप, स्थानीय निवासियों को नहीं मिल रही घने कोहरे से राहत

कश्मीर घाटी में न्यूनतम तापमान में मामूली वृद्धि के बाद भी रविवार को शीतलहर का प्रकोप जारी रहा।
कश्मीर में लगातार जारी शीतलहर का प्रकोप, स्थानीय निवासियों को नहीं मिल रही घने कोहरे से राहत
कश्मीर घाटी में न्यूनतम तापमान में मामूली वृद्धि के बाद भी रविवार को शीतलहर का प्रकोप जारी रहा। मौसम विभाग ने कहा कि 22 जनवरी के बाद कुछ दिन के लिये पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर को प्रभावित कर सकता है, जिससे केंद्र शासित प्रदेश में बर्फबारी और बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि कश्मीर में रात के तापमान में थोड़ी वृद्धि हुई लेकिन यह जमाव बिंदू से कई डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। 
उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 7.6 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जो उससे पिछली रात के तापमान माइनस 8.2 डिग्री सेल्सियस से अधिक है। मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में स्थित पहलगाम का न्यूनतम तापमान शून्य से 8.7 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। उससे पिछली रात पहलगाम का तापमान माइनस 9.4 डिग्री सेल्सियस था। 
विभाग ने कहा कि गुलमर्ग का न्यूनतम तापमान शून्य से 4.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है। शुक्रवार रात को यहां तापमान माइनस 5.4 डिग्री सेल्सियस रहा था। काजीगुंड जम्मू-कश्मीर का सबसे ठंडा इलाका बना हुआ है, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से नौ डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है। विभाग ने कहा कि प्रसिद्ध डल झील समेत विभिन्न जलायश जम गए हैं। 
facebook twitter instagram