+

गुरुनानक देव जी के 550 साला प्रकाश उत्सव की बधाई

गुरुनानक देव जी के 550 साला प्रकाश उत्सव की बधाई
गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश उत्सव की सभी देश वासियों को यहां तक कि विदेशों में रहने वाले सभी भारतीयों को लख-लख बधाई। गुरुनानक देव जी सिखों के ही नहीं सभी के गुरु थे, जिन्होंने पूरी दुनिया को जीने का संदेश दिया, जो एक ओंकार पर आधारित है, उसका प्रचार सारी दुनिया में होना चाहिए। यही नहीं गुरु नानक जी की सारी शिक्षाएं, सारे संदेश दुनिया में फैलने चाहिए क्योंकि यह वो शिक्षाएं हैं जो कहती है God is one, मानस की जात सबै एक की पहनाबो जो महिलायों के लिए संदेश सो  क्यों मंदा आखिए जो जिन्ह जमे राजान किरत करो वंड छको नाम जपो। 

पूरे विश्व में यह शिक्षाएं फैलनी चाहिए क्योंकि 550 साला प्रकाश उत्सव सारी दुनिया में मनाया जा रहा है। लोगों में बहुत ही उत्साह है। सरकार में भी इसे उतना ही मनाने का उत्साह है, सोशल मीडिया में भी यह छाया हुआ है। इसी बात को देखते हुए मुझे लगता है कि एक ऐसा संदेश दुनिया में फैले कि जो लोग धर्म के पीछे, जात के पीछे लड़ रहे हैं, उनकी अंतरात्मा जाग जाए। 550वें प्रकाश उत्सव में हम ऐसा माहौल बनाएं कि लोगों को सही मायने में जो गुरु नानक देव जी ने शिक्षाएं दी थीं, उनके अंदर उतर जाएं। वो उनको समझें और जिंदगी में उनको प्रैक्टिकल लाए। 

ईश्वर एक है, महिलाओं का सम्मान करें, इज्जत करो, किरत करो याति काम करो, कर्म करो, मेहनत करो और जो कमाओ उसे बांट कर खाओ यानी कुछ जरूरतमंदों को भी बांटें।नाम जपो अर्थात् सबको नाम जपना चाहिए। ईश्वर को याद रखना चाहिए। ईश्वर को हमेशा याद रखें, कि वो ही है जो  तुम्हारा मालिक है तुम्हारे सब कर्मों को देख रहा है। वैसे भी मैं सिख धर्म को ऐसा धर्म मानती हूं जो सरल, शिक्षाप्रद और सब को समझ आने वाला व्यावहारिक धर्म है। 

यही नहीं सिख धर्म का पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब है जो दुनिया के अन्य धर्मों की सद्वाणियों को भी अपने में समाहित करता है। बाबा फरीद हों या गुरु रविदास उनके सुंदर विचार भी गुरु ग्रंथ साहिब में हैं। जब कभी मैं बहुत उदास होती हूं तो दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारे में जरूर जाती हूं, वहां जाकर आत्मिक शांति मिलती है, सुकून मिलता है। दो पंजाबी फोरम वर्ल्ड पंजाबी ऑर्गनाइजेशन और इंटरनेशनल पंजाबी फोरम की सदस्य हूं, जिसमें देश-विदेशों से पंजाबी मेंबर हैं, जिनका अपने-अपने देश में रुतबा है, पहचान है, सब जोर-शोर से इस पर्व को मनाने की तैयारी में, बहुत सी एडवरटाइजमेंट टीवी पर चल रही हैं, जो अच्छा वातावरण बना रही हैं। 

सिरसा जी रोज व्हॉटसएप पर संदेश भेजते हैं, विक्रमजीत साहनी जी भेजते हैं, राज चड्ढा, मनजीत जी सभी मिलकर  तैयारियां कर रहे हैं। पिछले दिनों मशहूर सिंगर जस्सी ने नानक आया, बाबा नानक दी मेहर कैसेट रिलीज की जिसकी मीठी आवाज मन को शांति देती है। कुल मिलाकर बहुत ही अच्छा सौहार्दपूर्ण चारों तरफ इस पर्व को मनाने को वातावरण है, जो हम सबको एक होने की प्रेरणा देता है। यही नहीं यह एक सुखद संयोग है कि करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के लिए गलियारे का उद्घाटन भी हो गया है। उद्घाटन के बाद भारतीय श्रद्धालुओं की बरसों से गुरुनानक देव जी की पवित्र धरती को स्पर्श करने की कामना पूरी हो गई। 

गुरुनानक देव जी ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष इसी जगह गुजारे थे। बस हमें एक ही बात का ख्याल रखना है कि कोई भी इस अच्छे काम का फायदा न उठाए क्योंकि कल मैं टीवी पर देख रही थी, तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे थे कि पाकिस्तान इसमें षड्यंत्र रच सकता है। सिखों को भड़का सकता है। अपने बांग्लादेश वाला बदला ले सकता है। उसने एक कैसेट रिलीज करके कोशिश भी की परंतु नाकाम रही, परंतु हम सभी पंजाबियों को इसका ध्यान रखना है। कोई हमारे गुरु के गलियारे का दुरुपयोग करने का सपना भी न ले। 

कोई हिंदू-सिख एकता को खराब करने की कोशिश भी न करे। अभी-अभी जब मैं आर्टिकल लिख रही थी तो राम मंदिर का भी ऐतिहासिक फैसला आ गया। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों को सामने रखकर बहुत अच्छा फैसला दिया। कार्तिक का महीना है हर शुभ काम हो रहे हैं। कॉरिडोर निर्माण, राम मंदिर, बाबरी मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन बहुत अच्छे काम सबकी भावनाओं को आगे रखकर किए गए हैं। सभी को बहुत-बहुत बधाई।
facebook twitter