+

सभी ब्रांच हैड्स, ब्रांड अम्बेस्डर और सदस्यों को नववर्ष, बैसाखी, नवरात्रों की बधाई

जैसा कि मेरा हमेशा का मानना है कि वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब को सभी ब्रांच हैड्स की सशक्त टीम चलाती है और यह हमारा टीम वर्क है, जिसमें कई वालियंटर हमारे आफिस से मिलकर काम करते हैं।
सभी ब्रांच हैड्स, ब्रांड अम्बेस्डर और सदस्यों को नववर्ष, बैसाखी, नवरात्रों की बधाई
जैसा कि मेरा हमेशा का मानना है कि वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब को सभी ब्रांच हैड्स की सशक्त टीम चलाती है और यह हमारा टीम वर्क है, जिसमें कई वालियंटर हमारे आफिस से मिलकर काम करते हैं। 
यह निस्वार्थ सेवा है, जिसको सब दिल से भावना से करते हैं। यह काम आसान नहीं है। मेरा और हर ब्रांच हैड्स का अपने सदस्यों से इतना प्यार, विश्वास का रिश्ता बन जाता है जो खूनी रिश्तों से भी आगे हो जाता है और क्योंकि जिन्दगी में सब आए हैं तो जाना भी सबको है। जब यह सदस्य ईश्वर को प्यारे होते हैं तो इतना दिल टूट जाता, दुख होता है। कभी-कभी तो खाना खाने को भी मन नहीं करता। पिछले साल हमने अपने बहुत से सदस्य और सहयोगियों को खोया। यानी महाशय जी जिनका हमेशा हमारे सिर पर हाथ रहता था, हमारी प्यारी राजमाता उनकी बातें, लेक्चर अभी भी कानों में गुजरते हैं।
हमारे सबसे प्यारे नरेन्द्र चंचल जी जो हमेशा निस्वार्थ सेवा देते थे। हमारे आदरणीय भोला नाथ विज जी जो मार्गदशक तो थे ही एक आवाज पर स्वयं आकर खड़े जाते थे। पटेल नगर ब्रांच के हैड उप्पल जी, जयपुर ब्रांच के हैड भुटानी जी और पिछले कम्पीटिशन में हिस्सा लेने वाले सुरेश बंसल जी जो हमेशा एक्टिव रहते थे। हर प्रतियोगिता में हिस्सा लेते और जीतते थे।
फिर बात वहीं है कि जीवन-मरण, यश-अपयश, लाभ-हानि सब विधि हाथ, इसलिए जितना भी जीवन है उसके हर पल को परोपकार से जीना चाहिए। अपने लिए तो सभी जीते हैं, दूसरों के लिए जीने को जीना कहते हैं, इसलिए शो मस्ट 
गो ऑन।
बैसाखी के इस कम्पीटिशन में बहुत ही प्यारी बातें हमारे सामने आईं। सास-बहू का प्यारा रिलेशन, दादी-पोते और दादी-नानियों का प्यारा रिलेशन, हमारी संस्कृति, संस्कार कि जमाना जितना मर्जी एडवांस हो जाए हमारी कुछ रीतियां वैसी की वैसी हैं जैसे लडक़ी की विदाई, कुआं पूजन (बच्चे के जन्म पर) शादियों में लोकल संगीत का रिवाज और खुशियां मनाना आदि और बहुत सी लाइक हास्पिटल से वीडियो भेजना, घुटने के आपरेशन के बाद भी कम्पीटिशन में हिस्सा लेना, क्या बात है। वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब के सदस्यों ने कमाल कर दिया है, उन सबके पीछे ब्रांच हैड्स हैं।
इस तरह शो और जितने भी हमारे काम होते हैं उसके लिए सहयोग जो आर्थिक सहायता भेजते हैं और जिन्होंने बुजुर्गों को गोद ले रखा है और सबसे ऊपर मैं अपने ब्रांच हैड्स का बहुत-बहुत धन्यवाद करती हूं और इस बैसाखी के पर्व पर सबको बधाई देते हुए उनकी कड़ी मेहनत, समर्पित भावना, लगन  को सलाम करती हूं। अंत में यही कहूंगी हंसते-हंसते कट जाएंगे यह दिन कोरोना रहे न रहे स्ह्लड्ड4 ॥ Stay Healthy Safe.
facebook twitter instagram