+

कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया कुप्रबंधन का आरोप, GST को लेकर की यह मांग

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जीएसटी का बकाया का भुगतान नहीं होने से राज्यों की आर्थिक स्थिति गड़बड़ रही है।
कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया कुप्रबंधन का आरोप, GST को लेकर की यह मांग
कांग्रेस ने कहा है कि केंद्र के पास राज्यों का लम्बे समय से करोड़ों रुपए का वस्तु एवं सेवा कर-जीएसटी का बकाया पड़ा हुआ है और इसके नहीं मिलने से कई राज्यों की वित्तीय स्थिति बहुत गड़बड़ा गई है इसलिए संघीय अवधारणा का सम्मान करते हुए केंद्र को इसका शीघ्र भुगतान करना चाहिए।
कांग्रेस प्रवक्ता राजीव गोड़ा, पंजाब सरकार में वित्त मंत्री मनप्रीत बादल तथा कर्नाटक कांग्रेस के नेता कृष्णा वी गौड़ा ने मंगलवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दो दिन बाद जीएसटी परिषदबैठक होनी है और कांग्रेस शासित राज्यो के वित्त मंत्री केंद्र से जीएसटी के बकाए का तत्काल भुगतान करने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि यह बकाया नहीं मिलने से सिर्फ कांग्रेस शासित राज्य ही नहीं बल्कि भाजपा शासित राज्यों को भी दिक्कत हो रही है इसलिए केंद्र सरकार को संघीय अवधारणा का सम्मान करते हुए तुरंत बकाया लौटाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि जीएसटी बकाया कोरोना संकट के कारण नहीं बल्कि केंद्र सरकार के कुप्रबंधन के कारण रुका हुआ है। एक साल से अधिक समय से केंद्र ने इस पैसे का भुगतान नहीं किया है। उनका कहना था कि पंजाब जैसे छोटे राज्य का केंद्र पर 4500 करोड़ रुपए का जीएसटी का बकाया है जबकि कर्नाटक को इस मद के तहत 13000 करोड रुपए का भुगतान किया जाना है।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जीएसटी का बकाया का भुगतान नहीं होने से राज्यों की आर्थिक स्थिति गड़बड़ रही है। इस समय कर्नाटक जैसे कई राज्य बाढ के संकट से जूझ रहे हैं और यदि इस वक्त उन्हें इस बकाया का भुगतान किया जाता है तो राज्य लोगों को राहत देने में ज्यादा असरदार साबित होंगे।
facebook twitter