राजस्थान में नगर निकाय चुनावों के शुरुआती परिणामों में कांग्रेस आगे

राजस्थान में 49 नगर निकायों में 2000 से अधिक पार्षदों के चुनाव के लिए मतगणना मंगलवार सुबह शुरू हुई और शुरुआती परिणामों में विजयी पार्षदों की संख्या के लिहाज से सत्तारूढ़ कांग्रेस अपनी मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा से आगे निकलती दिख रही है। किस नगर निकाय में किस पार्टी का बोर्ड बनेगा इसका फैसला पूरे परिणाम सामने आने के बाद ही होगा। 

राज्य निर्वाचन विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध दोपहर 12 बजे तक के परिणाम के अनुसार कुल मिलाकर कांग्रेस के 504, भाजपा के 410, बसपा के 12 व माकपा के दो प्रत्याशी अब तक जीत दर्ज कर चुके हैं। इसमें रोचक यह भी है कि 204 वार्डों में निर्दलीय प्रत्याशी भी जीत चुके हैं। मतगणना सुबह आठ बजे शुरू हुई और शाम तक सभी परिणाम आने की उम्मीद है। 

इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुरुआती परिणामों को उम्मीदों के अनुरूप बताया है। उन्होंने  कहा, ‘‘उम्मीद और अपेक्षा के अनुकूल ही निकाय चुनाव में परिणाम आते दिख रहे है यह बहुत प्रसन्नता की बात है कि सरकार जिस रूप में परफॉर्म कर रही है उसी रूप में जनता ने मैंडेट दिया है।’ गहलोत ने कहा, ‘‘मैं जनता को कहना चाहूंगा कि आप निश्चिंत रहें, हम लोग काम करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।’ 

उल्लेखनीय है कि राज्य में तीन नगर निगमों, 18 नगर परिषद और 28 नगरपालिकाओं यानी कुल 49 निकायों में सदस्य पार्षद पद के लिए शनिवार को मतदान हुआ था। चुनाव में कुल 71.53 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इन 49 निकायों में कुल 2105 वार्डों में चुनाव होना था जिनमें से 14 वार्डों में पार्षद निर्विरोध चुने जा चुके हैं। बाकी 2081 वार्ड में 7942 उम्मीदवार अपना चुनावी भाग्य आजमा रहे हैं जिनमें 2832 महिलाएं व 5109 पुरुष प्रत्याशी शामिल हैं। पार्षद चुने जाने के बाद तय कार्यक्रम के अनुसार नगर निकायों में अध्यक्ष का चुनाव 26 नवंबर व उपाध्यक्ष का 27 नवंबर को करवाया जाएगा। 

Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Congress,elections,Rajasthan,councilors,election,municipalities,BJP