+

श्रमिक ट्रेनों को लेकर कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया देश के समक्ष झूठे तथ्य रखने का आरोप, पीयूष गोयल से मांगा इस्तीफा

श्रमिक ट्रेनों को लेकर कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया देश के समक्ष झूठे तथ्य रखने का आरोप, पीयूष गोयल से मांगा इस्तीफा
श्रमिक ट्रेनों को लेकर पक्ष और विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र सरकार और बीजेपी पर देश के समक्ष झूठे तथ्य रखने और श्रमिकों के साथ क्रूरतापूर्ण व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रेल मंत्री पीयूष गोयल पद से इस्तीफा दें या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें हटाएं। 
पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह दावा भी किया कि प्रवासी श्रमिकों के साथ सरकार की तरफ से क्रूरतापूर्ण व्यवहार किया गया। उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार और बीजेपी के कई लोगों ने कहा था कि रेलवे या तो मुफ्त सेवा दे रही है या फिर 85 फीसदी किराए का भुगतान कर रही है। खुद गृह मंत्री अमित शाह ने यह बयान दिया है कि 85 फीसदी रेलवे का किराया रेल विभाग ने दिया है और 15 प्रतिशत राज्यों ने वहन किया है।’’ 

पश्चिम बंगाल के श्रमिकों के लिए CM ममता की मांग पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, कही ये बात

सिंघवी के मुताबिक, अटॉर्नी जनरल ने उच्चतम न्यायालय में कहा कि श्रमिक ट्रेनों का 100 फीसदी किराया संबंधित राज्यों की ओर से दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया ‘‘ सरकार और भाजपा की तरफ से बार-बार गलत प्रचार किया गया और झूठे तथ्य रखे गए। मुजफ्फरपुर स्टेशन पर महिला की मौत के मामले में उसके परिवार ने ही सरकार की तरफ से किए गए इस दावे को खारिज कर दिया कि वह पहले से बीमार चल रही थी।’’ 
कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘अगर थोड़ी भी शर्म है तो रेल मंत्री इस्तीफा दें या प्रधानमंत्री उन्हें हटाएं।’’ उन्होंने कहा कि ट्रेन में 81 लोगों की मौत की जानकारी आधिकारिक रूप से दी गई है, हालांकि आरोप है कि यह संख्या इससे कहीं ज्यादा है।

facebook twitter