कांग्रेस में परिवारवाद है, आम कार्यकर्ता का कोई वजूद नहीं : गडकरी 

अलीराजपुर, धार, (मप्र) : केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने परिवारवाद के मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस में परिवारवाद के आगे आम कार्यकर्ता का कोई वजूद नहीं है। अलीराजपुर में भाजपा उम्मीदवार गुमान सिंह डामोर के पक्ष में चुनावी आमसभा को सम्बोधित करते हुए गडकरी ने परिवारवाद पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि कांग्रेस में प्रधानमंत्री के पेट से प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के पेट से मुख्यमंत्री, सांसद के पेट से सांसद और विधायक के पेट से विधायक निकलता है। पार्टी में परिवारवाद के आगे आम कार्यकर्ता का कोई वजूद नहीं है।

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी अपने बेटे राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिये लड़ रही हैं, जबकि हम देश बनाने के लिये लगे हैं। केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी और इंदिरा गांधी से लेकर राजीव, सोनिया और राहुल गांधी तक सब गरीबी हटाने की बातें जरूर करते रहे, लेकिन गरीबी नहीं हटा पाए और आज फिर इन चुनावों में गरीबी हटाने का लॉलीपॉप देते घूम रहे हैं। उन्होने कहा, ‘‘कांग्रेस के 72,000 रुपए देकर गरीबी हटाने के नारे पर अब कोई भरोसा नहीं करेगा।’’     उन्होंने आरोप लगाया कि गरीबी हटी है तो कांग्रेस के नेताओं की और उनके चमचों या उनके कार्यकर्ताओं की। लेकिन आदिवासी, दलित, मुसलमान, मजदूर, किसान इनकी गरीबी नहीं हटी है।

गडकरी ने कहा कि 26/11 के बाद कांग्रेस पाकिस्तान को जवाब देने के बजाय मोममबत्तियां जला रही थी, जबकि मोदीजी ने एयर स्ट्राइक करके दुनियाभर के सामने पाकिस्तान को उसकी औकात बता दी है। उन्होंने जनता से पूछा कि वह मजबूर सरकार चाहते हैं या मजबूत सरकार। उन्होंने आह्वान किया कि मजबूत सरकार के लिए भाजपा को वोट दें। धार लोकसभा सीट के मनावर में भाजपा प्रत्याशी छतरसिंह दरबार के समर्थन में आम सभा संबोधित करते हुए गडकरी ने कांग्रेस को जमकर आडे़ हाथो लिया और भाजपा सरकार और मोदी जी की तारीफ की।

गडकरी ने कहा कि राजीव गांधी ने गंगा को निर्मल और स्वच्छ बनाने की बात कही थी, पर कुछ नहीं हुआ। लेकिन हमने अब तक सिर्फ 30 प्रतिशत काम किया उसके बावजूद गंगा निर्मल और अविरल बनी। यह हमने करके दिखाया। इस बार जब कुंभ में 20 करोड़ लोग आये थे और गंगा को निर्मल देखकर इतने प्रसन्न हुए और लोगों ने वहां स्नान कर मुझे और मोदी जी को आशीर्वाद दिया। पहली बार गंगा अविरल और निर्मल थी। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं गंगा में जलमार्ग भी चला दिया। प्रियंका गांधी इलाहाबाद से वाराणसी तक जहाज से गयीं ।

Download our app
×