+

विधायकों की 'अंतरात्मा' को टटोल रही है कांग्रेस, आखिर क्या हुआ ऐसा जो यशवंत सिन्हा के खिलाफ हुई वोटिंग?

झारखंड में राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद अब कांग्रेस पार्टी यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यशवंत सिन्हा को चोट पहुंचाकर किन विधायकों ने एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया।
विधायकों की 'अंतरात्मा' को टटोल रही है कांग्रेस, आखिर क्या हुआ ऐसा जो यशवंत सिन्हा के खिलाफ हुई वोटिंग?
झारखंड में राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद अब कांग्रेस पार्टी यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यशवंत सिन्हा को चोट पहुंचाकर किन विधायकों ने एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया। झारखंड प्रभारी अविनाश पांडे दिल्ली से रांची पहुंच गए हैं विधायकों के 'अंतरात्मा' की चल रही हलचल को जानने पहुंचे। वह हर विधायक से बात कर उनकी 'मन की बात' पूछ रहे हैं।
विधायकों ने क्रॉस वोटिंग नहीं करने की भी बात को भी उठाया
गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की निर्धारित बैठक नहीं हो सकी। अविनाश पांडे ने विधायकों के साथ आमने-सामने की बैठक। वह सभी विधायकों से जानना चाहते थे कि राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी लाइनों के पार क्रॉस वोटिंग क्यों की जाती है। इस पर विधायकों ने क्रॉस वोटिंग नहीं करने की भी बात को भी उठाया। वन टू वन में 14 विधायक पहुंचे और अपनी बात रखी। राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग हो चुकी है। कांग्रेस के एक-दो नहीं बल्कि नौ से 10 विधायकों ने विपक्ष के संयुक्त प्रत्याशी यशवंत सिन्हा की जगह द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया। 
कांग्रेस पार्टी गांधी विचारधारा के तहत लड़ती है
इसके बावजूद पार्टी का कोई भी विधायक अब क्रॉस वोटिंग करने से मना नहीं कर रहा है। वन टू वन में कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर भी मौजूद रहे। प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस पार्टी गांधी विचारधारा के तहत लड़ती है। यह पहली बार नहीं है जब पार्टी प्रभारी अविनाश पांडेय रांची आए हैं और विधायकों से आमने-सामने बात की है। प्रभारी अविनाश पांडे ने क्रॉस वोटिंग को लेकर सभी विधायकों का राय जानना चाहते थे। वे जानना चाहते थे कि आखिर ऐसी कौन सी स्थिति थी जिसके चलते विधायकों ने क्रॉस वोटिंग कर दी। जो भी चीजें सामने आएंगी, उस पर संगठन स्तर पर चर्चा की जाएगी।
facebook twitter instagram