+

कर्नाटक उपचुनाव : कांग्रेस नेता शिवकुमार ने मानी हार, बोले-लोगों ने दलबदलुओं को किया स्वीकार

कर्नाटक उपचुनाव के रुझानों लेकर पूछे जाने पर शिवकुमार ने कहा कि हमें इन 15 निर्वाचन क्षेत्रों के मतदाताओं के जनादेश से सहमत होना होगा।
कर्नाटक उपचुनाव : कांग्रेस नेता शिवकुमार ने मानी हार, बोले-लोगों ने दलबदलुओं को किया स्वीकार
कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए मतगणना आरंभ हो चुकी है। अभी तक आए रुझानों  के अनुसार सभी सीटों में से 11 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) दो-दो और निर्दलीय एक सीट पर आगे चल रहे है। इन रुझानों को देखते हुए कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि हमने हार स्वीकार कर ली है। 
कर्नाटक उपचुनाव के रुझानों लेकर पूछे जाने पर शिवकुमार ने कहा कि हमें इन 15 निर्वाचन क्षेत्रों के मतदाताओं के जनादेश से सहमत होना होगा। लोगों ने दलबदलुओं को स्वीकार कर लिया है। हमने हार स्वीकार कर ली है, मुझे नहीं लगता कि हमें निराश होना पड़ेगा। बता दें कि राज्य इन सीटों पर पांच दिसंबर को मतदान हुआ था। 

शिवसेना ने केंद्र पर लगाया हिंदुओं-मुसलमानों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप

इस उपचुनाव में 156 पुरुष और नौ महिला सहित कुल 165 उम्मीदवार चुनावी मैदान में है। कांग्रेस और जनता दल (सेक्यूलर) के 17 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराये जाने के कारण विधानसभा की ये सीटें खाली हुई थीं। निर्वाचन आयोग के अनुसार थानी, कागवाड़, गोकक, येल्लापुर, हीरेकेरुर, रानीबेन्नूर, विजयनगर, चिकबल्लापुर, के आर पुरम, यशवंतपुर, महालक्ष्मी लेआउट, शिवाजीनगर, होसकोटे, के आर पेट और हुनसुर क्षेत्रों में 4185 मतदान केंद्रों पर हुये मतदान में 66.25 प्रतिशत मतदान हुआ था। 
सत्तारूढ़ भाजपा को सत्ता में बने रहने के लिए कम से कम सात सीटें चाहिए। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली सरकार को वर्तमान में 106 विधायकों का समर्थन प्राप्त है, जिसमें वर्तमान में 207 सदस्यों वाले सदन में एक निर्दलीय विधायक भी शामिल है। गौरतलब है कि कर्नाटक में विधानसभा में कुल 224 सीट है। लेकिन कांग्रेस और जद (एस) के 17 विधायकों के इस्तीफे के कारण पूर्ववर्ती कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार गिर गई थी और इसके बाद भाजपा सरकार का गठन किया था।
facebook twitter