+

रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर कांग्रेस ने जताया शोक, कहा- भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति

राहुल ने ट्वीट किया, "रघुवंश प्रसाद सिंह जी के निधन के साथ ही गांव व किसान की एक मजबूत आवाज सदा के लिए खो गई है।"
रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर कांग्रेस ने जताया शोक, कहा- भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए रविवार को कहा कि उनके निधन के साथ ही गांव और किसानों की एक मजबूत आवाज सदा के लिए खो गई। कांग्रेस ने सिंह को ‘‘बिहार का सपूत’’ बताते हुए कहा कि उन्हें राजनीति में नैतिकता की वकालत करने के लिए हमेशा याद किया जाएगा। उनके निधन से क्रांति के एक अध्याय का अंत हो गया। 
राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘रघुवंश प्रसाद सिंह जी के निधन के साथ ही गांव व किसान की एक मजबूत आवाज सदा के लिए खो गई है। गावों व किसानों के उत्थान के लिए उनकी सेवा और लगन तथा सामाजिक न्याय के लिए उनके संघर्ष को सदा याद रखा जाएगा। मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि।’’ 
राहुल, अपनी मां सोनिया गांधी की मेडिकल जांच के लिये उनके साथ अमेरिका गये हैं। 
प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, ‘‘ग्रामीण इलाकों, खेत-खलिहानों और सामाजिक न्याय की मजबूत आवाज रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन भारतीय राजनीति के लिए एक अपूरणीय क्षति है। रघुंवश जी को उनके योगदान के लिए हमेशा याद रखा जाएगा। भावपूर्ण श्रद्धांजलि।’’ 
कांग्रेस ने रघुवंश प्रसाद को श्रद्धांजलि देते हुए ट्विटर पर कहा, ‘‘राजनीति में नैतिक मूल्यों के पैरोकार, वंचितों की एक प्रखर आवाज आज खामोश हो गई। आपका जाना जनक्रांति के इतिहास से एक अध्याय की समाप्ति है। बिहार के प्रिय बेटे रघुवंश बाबू को कांग्रेस परिवार की ओर से सादर श्रद्धांजलि।’’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। 
रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। एम्स में इलाज के दौरान रघुवंश प्रसाद सिंह के का सुबह करीब 11 बजे सांस लेने में कठिनाई और स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य समस्याओं के कारण निधन हो गया। सिंह (74) का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए पटना ले जाया जाएगा।

देश में कोरोना रिकवरी रेट 77.88 प्रतिशत, 58 फीसदी स्वस्थ मरीज इन पांच राज्यों से

facebook twitter