+

PM मोदी के संबोधन में नहीं हुआ चीन का जिक्र, कांग्रेस बोली-सारी उम्मीदों को धाराशायी कर दिया

PM मोदी के संबोधन में नहीं हुआ चीन का जिक्र, कांग्रेस बोली-सारी उम्मीदों को धाराशायी कर दिया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन में भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर कोई बयान नहीं होने पर कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सारी उम्मीदों को धाराशायी कर दिया कि क्योंकि उन्होंने चीन के साथ गतिरोध तथा गरीबों की आर्थिक मदद करने के संदर्भ में कुछ नहीं कहा।
वहीं राहुल गांधी ने संबोधन को लेकर शायराना अंदाज में कटाक्ष किया है। पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने यह दावा भी किया कि प्रधानमंत्री का संबोधन कहीं न कहीं बिहार विधानसभा चुनाव की ओर केंद्रित नजर आया। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री के संबोधन से उम्मीदों का पहाड़ खड़ा किया गया था, लेकिन उन्होंने सारी उम्मीदों को धाराशायी कर दिया। सिर्फ सुर्खियां बटोरेने का प्रयास किया।’’
सुप्रिया ने कहा, ‘‘ हमारी उम्मीद थी कि वह कोरोना संकट के निपटने के संदर्भ में बड़ा कदम उठाएंगे, बेरोजगार हुए लोगों को राहत देने का कदम उठाएंगे। हमें उम्मीद थी कि वह मजदूरों के लिए निर्णायक कदम उठाएंगे। हमें उम्मीद थी कि गरीब परिवारों को 7500 रुपये प्रति माह देने की घोषणा करेंगे।’’

PM मोदी के 'राष्ट्र के नाम संबोधन' पर राहुल गांधी का शायराना अंदाज में तंज

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमें सबसे बड़ी उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री हमारे दुश्मन चीन से आंख में आंख में डालकर बात करेंगे। लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया।’’ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप्प पर प्रतिबंध लगाया है, उस पर मुझे कहना है कि संकेतात्मक लड़ाई करने से काम नहीं चलेगा। हमें आंख में आंख डालकर बात करनी होगी और चीन को लेकर कड़े कदम उठाने होंगे।’’
उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी ने पहले ही मांग की थी कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ की अवधि बढ़ाई जाए और सरकार ने फैसला कर दिया, लेकिन यह घोषणा तो कोई मंत्री भी कर सकता था। प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में मंगलवार को ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है। 
इससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा। उन्होंने कहा कि सारी एहतियात बरतते हुए आर्थिक गतिविधियों को आगे बढ़ाया जाएगा तथा हिन्दुस्तान को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया जाएगा।
facebook twitter