+

कोरोना के बढ़ते आंकड़ों पर कांग्रेस का केंद्र पर वार, कहा- ‘विफलता’ पर जवाब दें पीएम मोदी

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार से यह सवाल भी किया कि कोरोना पर नियंत्रण कैसे पाया जाएगा और ‘डूबती अर्थव्यवस्था’ को कैसे उबरा जाएगा?
कोरोना के बढ़ते आंकड़ों पर कांग्रेस का केंद्र पर वार, कहा- ‘विफलता’ पर जवाब दें पीएम मोदी
कांग्रेस ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 40 लाख के पार चले जाने के बाद सोमवार को कहा कि भारत दुनिया का ‘कोरोना कैपिटल’ बन गया है और इससे कारगर ढंग से निपटने में ‘विफलता’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जवाब देना चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार से यह सवाल भी किया कि कोरोना पर नियंत्रण कैसे पाया जाएगा और ‘डूबती अर्थव्यवस्था’ को कैसे उबरा जाएगा?
उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मोदी जी ने कहा था, ‘‘महाभारत का युद्ध 18 दिन चला था। कोरोना से युद्ध जीतने में 21 दिन लगेंगे।’’ 166 दिन बाद भी समूचे देश में ‘कोरोना महामारी की महाभारत’ छिड़ी है, लोग मर रहे हैं, पर मोदी जी मोर को दाना खिला रहे हैं। कोरोना से युद्ध तो जारी है, पर सेनापति नदारद हैं।’’
सुरजेवाला ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा, ‘‘भारत आज दुनिया की ‘कोरोना कैपिटल’ बन गया है। कोरोना महामारी के संक्रमण में भारत दुनिया में अब दूसरे स्थान पर है। पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना संक्रमण के 90,633 मामले आए हैं।’’
कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘‘29 दिन में भारत में कोरोना संक्रमण के मामले 20 लाख से बढ़कर 40 लाख हो गए। विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण और भी खतरनाक हो सकता है। 30 नवंबर कोरोना संक्रमण के मामले 1 करोड़ हो सकते हैं। 30 दिसंबर तक कोरोना संक्रमण के मामले बढ़कर 1.40 करोड़ हो सकते हैं। कोरोना होने वाली मौतों की संख्या 1,75,000 तक बढ़ने की आशंका व खतरा है।’’
उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘बगैर सोचे, बगैर समझे, बगैर विचार विमर्श के मात्र तीन घंटे के नोटिस पर लागू किए गए लॉकडाउन से कोरोना महामारी रुकी नहीं, बल्कि इसने देश की अर्थव्यवस्था व लोगों के रोजगार की कमर पूरी तरह से तोड़ दी। इसका कारण यह प्रधानमंत्री की विफल नेतत्व है।
सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘‘नेतृत्व की इस विफलता का मोदी जी जवाब दें। देश को बताएं कि कोरोना पर नियंत्रण कैसे पाया जाएगा? कोरोना संक्रमण की विस्फोटक स्थिति पर कैसे काबू पाएंगे? कोरोना संक्रमण को करोड़ों में जाने से कैसे रोकंगे? कोरोना से हो रही बेतहाशा मौतों पर कैसे नियंत्रण होगा? डूबती अर्थव्यवस्था को कैसे उबारेंगे? क्या कोई हल है या फिर भगवान पर इल्जाम लगा देंगे?’’
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में एक दिन में कोविड-19 के रिकॉर्ड 90,802 मामले सामने आने के बाद सोमवार को इस बीमारी के कुल मरीजों की संख्या 42,04,613 हो गई। जबकि पिछले 24 घंटों में 1,016 लोगों की मौत के साथ मृतक संख्या बढ़कर 71,642 हो गई है।

देश की विषम परिस्थिति में SBI द्वारा VRS की योजना लागू करना क्रूरता : चिदंबरम

facebook twitter