+

लद्दाख झड़प पर कांग्रेस ने PM मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ से मांगा जवाब

लद्दाख झड़प पर कांग्रेस ने PM मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ से मांगा जवाब
कांग्रेस ने कहा है कि चीनी सैनिकों ने राइफल की संगीनों, लोहे की रॉड, कंटीली तार लगी लाठियों, डंडों तथा अन्य हथियारों से हमारे सैनिकों पर हमला कर अक्षम्य अपराध किया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को देश की जनता को इसका जवाब देना चाहिए कि हमारे सैनिकों को उनसे निहत्थे ही क्यों लोहा लेना पड़ा।
कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल तथा पार्टी के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने गुरुवार को यहां जारी बयान में कहा कि देश सेना के 20 जवानों की शहादत पर उन्हें अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि दे रहा है और इस घटना से देशवासी अत्यंत पीड़ा, आक्रोश तथा गुस्से में हैं। इस घटना से देश में वेदना है और हर जुबान पर भारी रोष है। देश के रणबांकुरों की निर्ममतापूर्वक शहादत हुई है और देश जानना चाहता है कि भारत मां के इन लाडलों को चीन से निहत्थे लोहा लेने के लिए क्यों और किसने बाध्य किया।
उन्होंने कहा कि चीन ने अक्षम्य अपराध किया है। उसके सैनिकों ने राइफल की संगीनों, लोहे की रॉड, कंटीली तार लगी लाठियों, डंडों तथा अन्य हथियारों से जानबूझकर हमारे जांबाज सैन्य अधिकारी तथा सैनिकों पर हमला किया। देशवासियों का मन यह सोचकर कांप उठता है कि जिस निर्दय और निमर्म तरीके से हमारे वीर जवान शहीद हुए हैं वह सबसे अधिक आवेशित करने वाला, अस्वीकार्य तथा तकलीफदेह बात है।

सीमा विवाद पर चीन ने भारत से कहा- हमारी इच्छा को न समझें कमजोर

कांग्रेस नेताओं ने कहा “ पीएम मोदी तथा राजनाथ सिंह देश को जवाब दें कि हमारे जांबाज सैन्य अधिकारी तथा सैनिकों को दुश्मन के पास निहत्थे क्यों भेजा गया। किस हुक्मरान ने हमारे सैन्य अधिकारी तथा सैनिकों को यह आदेश दिया। जब हमारे सैन्य अधिकारी तथा सैनिकों को बगैर हथियार भेजा गया तो आर्मी प्रोटोकॉल के अनुरूप उनकी सुरक्षा के लिए हथियारबंद ‘बैकअप फोर्स’ क्यों उपलब्ध नहीं थी। यदि बैकअप फोर्स थी, तो उसे क्यों नहीं भेजा गया।"
के शत्रुतापूर्ण मंसूबों और हमारे शूरवीरों पर षडयंत्रकारी तौर से हमला करने के बारे में अग्रिम जानकारी सरकार के पास क्यों नहीं थी। क्या चीन की मंशा समझने में भारी चूक केंद्रीय सरकार और उनके नेतृत्व की घोर विफलता का प्रतीक नहीं है।”

facebook twitter