+

किसान प्रदर्शन : कांग्रेस ने BJP को बताया 'ईस्ट इंडिया कंपनी', प्रियंका बोलीं- सड़कें खोद नहीं दबेगी आवाज

कांग्रेस ने किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर शुक्रवार को केंद्र और भाजपा पर निशाना साधा। इसने कहा कि भाजपा ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह व्यवहार कर रही है।
किसान प्रदर्शन : कांग्रेस ने BJP को बताया 'ईस्ट इंडिया कंपनी', प्रियंका बोलीं- सड़कें खोद नहीं दबेगी आवाज
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य-एमएसपी को नए कृषि कानून का हिस्सा बनाने की मांग को लेकर दिल्ली आ रहे किसानों की आवाज दबाने की बजाय उनकी बात सुननी चाहिए। पार्टी की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव ने कहा कि किसान पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से दिल्ली आकर अपनी आवाज बुलंद करना चाहते थे लेकिन सरकार ने उसे कुचलने का प्रयास किया है और उनको दिल्ली आने से रोका है।
प्रियंका ने कहा, “ किसानों की आवाज दबाने के लिए पानी बरसाया जा रहा है, सड़कें खोदकर रोका जा रहा है लेकिन सरकार उनको ये दिखाने और बताने के लिए तैयार नहीं है कि एमएसपी का कानूनी हक होने की बात कहां लिखी है। एक देश, एक चुनाव की चिंता करने वाले प्रधानमंत्री जी को एक देश, एक व्यवहार भी लागू करना चाहिए।”
वहीं कांग्रेस ने किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर शुक्रवार को केंद्र और भाजपा पर निशाना साधा। इसने कहा कि भाजपा ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह व्यवहार कर रही है। पार्टी के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, "भाजपा देश के किसानों के साथ ईस्ट इंडिया कंपनी और जनरल डायर की तरह व्यवहार कर रही है।"
कांग्रेस ने आरोप लगाया कि किसानों पर बल प्रयोग और अत्याचार किया जा रहा है। शेरगिल ने ट्वीट किया, "लाल गुलाब से इनका स्वागत करने की बजाय बीजेपी बेशर्मी से हमारे किसानों का लाल खून बहा रही है, भाजपा जिम्मेदार नहीं बल्कि जालिम सरकार है , ये किसानों की नहीं बेईमानों की सरकार है।" टिकरी बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा) में अराजकता देखी गई जहां किसानों की पुलिस से झड़प हुई।
प्रदर्शनकारी किसानों को पीछे धकेलने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस का इस्तेमाल किया। आसपास की मेट्रो सेवाएं बंद कर दी गईं। पानीपत और सोनीपत के बीच तीन-चार लेयर की पुलिस बैरिकेड को तोड़कर, अमृतसर के संगरूर और जंडियाला के हजारों किसान सुबह से ही दिल्ली की ओर जाने की कोशिश कर रहे हैं। किसान संसद द्वारा पारित कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं।

टिकरी, सिंघु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प, आंसू गैस के गोले दागे गए, कई मेट्रो स्टेशन बंद

facebook twitter instagram