+

बाहुबली विधायक मुख्तार के कारोबारियों समेत कई अन्य लोगों से संपर्क की हुई पुष्टि, जल्द शुरू होगी पड़ताल

मऊ से बहुजन समाज पार्टी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी से एम्बुलेंस प्रकरण में बाराबंकी पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बांदा जेल में पहुंचकर कई चरणों में पूछताछ की।
बाहुबली विधायक मुख्तार के कारोबारियों समेत कई अन्य लोगों से संपर्क की हुई पुष्टि, जल्द शुरू होगी पड़ताल
मऊ से बहुजन समाज पार्टी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी से एम्बुलेंस प्रकरण में बाराबंकी पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बांदा जेल में पहुंचकर कई चरणों में पूछताछ की। बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने शुक्रवार को दावा किया कि मुख्तार अंसारी से बाराबंकी के कई लोगों के साथ संबंध की पुष्टि हुई है और कई साक्ष्‍य हासिल हुए हैं, जल्द ही पड़ताल कर दोषियों को जेल भेजा जाएगा।
अंसारी को जबरन वसूली के एक मामले में 31 मार्च को पंजाब की रोपड़ जेल से एम्बुलेंस से मोहाली की अदालत ले जाया गया था जिस पर बाराबंकी जिले की नंबर प्लेट लगी थी। बाराबंकी में दो अप्रैल को एम्बुलेंस के दस्तावेज फर्जी पाए जाने पर मामला दर्ज किया गया था। यह एम्बुलेंस डॉक्टर अलका राय के नाम से पंजीकृत थी। इसके बाद सहायक राज्‍य सड़क परिवहन अधिकारी ने राय के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।
इस मामले में पुलिस ने अलका राय सहित दो लोगों को 20 अप्रैल को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि एसआईटी (विशेष जांच दल) की जांच के बाद ये गिरफ्तारियां की गईं। राय पर फर्जी दस्तावेज के आधार पर एम्बुलेंस का पंजीकरण कराने का आरोप है। मामला सामने आने के बाद राय ने कहा था कि अंसारी ने उनसे कागजात पर जबरन हस्ताक्षर करवाए थे। 
राय के बयान के आधार पर बाराबंकी पुलिस ने अंसारी के खिलाफ साजिश एवं जालसाजी का मामला दर्ज किया और मामले की जांच एसआईटी को सौंपी गई। एसआईटी की टीम मुख्तार से पूछताछ के लिए बुधवार को बांदा जिला जेल पहुंची थी, जहां मुख्तार से दो दिन तक पूछताछ की गई। एसआईटी टीम मुख्तार अंसारी से पूछताछ कर बृहस्पतिवार को बाराबंकी लौट आई। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार एसआईटी टीम की पूछताछ में मुख्तार अंसारी के बाराबंकी के कुछ लोगों से संपर्क के साक्ष्य मिले हैं, जिसमें कुछ रीयल स्टेट कारोबारियों के साथ अन्य लोग भी मुख्तार के करीबी पाए गए हैं। प्रसाद ने बताया कि जो भी जानकारी मिली है उसका गहन परीक्षण करने के बाद एम्बुलेंस पंजीकरण कराने में शामिल बाराबंकी के लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।
facebook twitter instagram