+

फडणवीस के युवा रिश्तेदार के कोविड-19 का टीका लगवाने पर विवाद, भाजपा नेता ने दी सफाई

महाराष्ट्र के भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के एक युवा रिश्तेदार ने खुद को कोविड-19 का टीका लगवाते हुए तस्वीर साझा की है जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया है क्योंकि उम्र के लिहाज से वह अभी टीकाकरण की पात्रता नहीं रखता।
फडणवीस के युवा रिश्तेदार के कोविड-19 का टीका लगवाने पर विवाद, भाजपा नेता ने दी सफाई
महाराष्ट्र के भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के एक युवा रिश्तेदार ने खुद को कोविड-19 का टीका लगवाते हुए तस्वीर साझा की है जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया है क्योंकि उम्र के लिहाज से वह अभी टीकाकरण की पात्रता नहीं रखता। 
उम्र के लिहाज से 20-30 साल के बीच के दिखाई दे रहे तन्मय फडणवीस की एक तस्वीर सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी जिसके बाद यहां देवेंद्र फडणवीस के कार्यालय ने मंगलवार को बयान जारी कर कहा कि अगर आयु पात्रता के मानदंड का उल्लंघन किया गया है तो यह पूरी तरह अनुचित है और सभी को नियमों का पालन करना चाहिए। 
तन्मय वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मंत्री शोभाताई फडणवीस के पौत्र हैं। शोभाताई देवेंद्र फडणवीस की रिश्तेदार हैं। तन्मय ने नागपुर में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में टीका लगवाया था और सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीर डाली। उम्र संबंधी मानदंड के उल्लंघन पर विवाद शुरू हुआ तो देवेंद्र फडणवीस ने इससे दूरी बनाने का प्रयास किया। 
पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया ‘‘संबंधित व्यक्ति तन्मय फडणवीस मेरे दूर के रिश्तेदार हैं और मुझे जानकारी नहीं है कि उन्होंने किस श्रेणी के तहत टीका लगवाया है।’’ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष फडणवीस ने कहा, ‘‘अगर वह टीकाकरण के लिए पात्र हैं तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है और यदि वह पात्र नहीं हैं तो यह पूरी तरह अनुचित है।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘मानकों के अनुसार अभी मेरी पत्नी और बेटी ने भी टीका नहीं लगवाया है। हालांकि 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोग (एक मई से) टीका लगवा सकते हैं और सभी को नियमों का पालन करना चाहिए।’’ अभी तक 45 साल से अधिक उम्र के लोग ही कोविड टीका लगवा सकते हैं। 
इस बीच फडणवीस ने मंगलवार को नागपुर में संवाददाताओं से बातचीत में महाराष्ट्र में रेमडेसिविर के आवंटन में पक्षपात का आरोप लगाया और कहा कि बुरी तरह प्रभावित जिलों को इस दवा का पर्याप्त स्टॉक नहीं मिल रहा है। उन्होंने जरूरत के हिसाब से रेमडेसिविर के वितरण की बंबई उच्च न्यायालय की व्यवस्था का स्वागत किया। 
उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने सोमवार को महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया था कि नागपुर जिले को रेमडेसिविर इंजेक्शन की तत्काल 10,000 शीशियां भेजी जाएं।
facebook twitter instagram