+

परिषद चुनाव : बीजेपी के 10 और सपा के दो उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित

उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 12 सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने वाले इतने ही प्रत्याशी बृहस्पतिवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए।
परिषद चुनाव : बीजेपी के 10 और सपा के दो उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित
उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 12 सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने वाले इतने ही प्रत्याशी बृहस्पतिवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। इनमें भाजपा के 10 और समाजवादी पार्टी (सपा) के दो उम्मीदवार शामिल हैं।
निर्वाचित घोषित उम्मीदवारों में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और पूर्व आईएएस अधिकारी ए के शर्मा के साथ-साथ विधान परिषद में विपक्ष के नेता रहे अहमद हसन भी शामिल हैं। रिटर्निंग ऑफिसर बृज भूषण दुबे ने बताया कि नामांकन वापसी की अवधि गुजरने के साथ ही आज विधान परिषद चुनाव के सभी 12 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए।
उन्होंने बताया कि उन सभी को प्रमाणपत्र दिया गया है। दरअसल मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच के दौरान निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त होने के बाद बाकी बचे 12 उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया था।
दुबे ने बताया कि शर्मा का नामांकन इसलिए निरस्त किया गया क्योंकि उनका कोई प्रस्तावक नहीं था। उन्होंने बताया कि साथ ही नामांकन के लिए जरूरी शुल्क जमा करने की रसीद भी संलग्न नहीं की गई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी निर्वाचित सदस्यों को बधाई दी उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश विधान परिषद के लिए आज निर्वाचित हुए सभी सदस्यों को शुभकामनाएं।
उम्मीद है कि आप सभी उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने की परिकल्पना को साकार करने में सहायक सिद्ध होंगे’’ स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के बाद पिछले दिनों भाजपा में शामिल हुए और आज विधान परिषद सदस्य चुने गए पूर्व आईएएस अधिकारी ए के शर्मा ने अपने निर्वाचन के बाद कहा कि वह विधान परिषद सदस्य बनाने के लिए भाजपा की केंद्रीय तथा प्रदेश नेतृत्व के आभारी हैं और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हृदय से आभार।
विधान परिषद की ये 10 सीटें जीतने के बावजूद भाजपा 100 सदस्यीय विधान परिषद में समाजवादी पार्टी से अब भी काफी पीछे है। सदन में अब समाजवादी पार्टी के 51 सदस्य हैं जबकि भाजपा के पास 32 सीटें हैं। इसके अलावा बसपा के छह, कांग्रेस के दो तथा निर्दलीय समूह, अपना दल (सोनेलाल) और शिक्षक दल के एक-एक सदस्य हैं।
तीन निर्दलीय सदस्य हैं, जबकि तीन सीटें रिक्त हैं। प्रदेश विधान परिषद की 12 सीटों के लिए नाम वापसी की आखिरी तारीख 21 जनवरी थी। जरूरत पड़ने पर 28 जनवरी को मतदान का कार्यक्रम था।
निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए भाजपा के उम्मीदवारों में उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा, पूर्व आईएएस अधिकारी एके शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा लक्ष्मण प्रसाद आचार्य, कुंवर मानवेंद्र सिंह, गोविंद नारायण शुक्ला, सलिल विश्नोई, अश्वनी त्यागी, धर्मवीर प्रजापति तथा सुरेंद्र चौधरी शामिल हैं। वहीं, सपा के अहमद हसन और राजेंद्र चौधरी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।
facebook twitter instagram