+

त्रिपुरा में कोरोना के बढ़ने के मद्देनजर केंद्रीय टीम करेगी दौरा, संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए देगी सुझाव

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तीन या चार विशेषज्ञों वाली एक केंद्रीय टीम जल्द ही त्रिपुरा का दौरा करेगी ।
त्रिपुरा में कोरोना के बढ़ने के मद्देनजर केंद्रीय टीम करेगी दौरा, संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए देगी सुझाव
त्रिपुरा में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार तेज है। राज्य में इस खतरनाक वायरस का फैलाव थमने का नाम नहीं ले रहा है और हर दिन संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इसी के मद्देनजर एक केंद्रीय टीम जल्द ही पूर्वोत्तर राज्य का दौरा करेगी। वह स्थिति का अध्ययन कर राज्य सरकार को वायरस को फैलने से रोकने के लिए सुझाव देगी। शनिवार की रात त्रिपुरा के कानून और शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने यह जानकारी दी है। 
उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तीन या चार विशेषज्ञों वाली एक केंद्रीय टीम जल्द ही त्रिपुरा का दौरा करेगी और कोविड -19 संबंधित स्थिति की जांच करके राज्य सरकार को वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सुझाव देगी। त्रिपुरा के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के इन-चार्ज चीफ सेक्रेटरी संजय कुमार राकेश ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को कोरोनावायरस की मौजूदा स्थिति के बारे में अवगत कराया है। नाथ ने मीडिया को बताया कि प्रति 10 लाख परीक्षणों में पॉजिटिव आने वाले मामलों की संख्या, रोगियों की रिकवरी और मृत्यु दर के मामले में त्रिपुरा भारत के कई राज्यों से बेहतर स्थिति में है। 
शनिवार की रात तक त्रिपुरा में 14,731 पॉजिटिव केस दर्ज हुए थे, जिसमें से 8,745 मरीज इससे उबर चुके हैं। 9 जून को कोरोना से पहली मृत्यु होने के बाद से अब तक यहां 144 मौतें दर्ज हो चुकी हैं। मंत्री ने कहा, "स्थिति की गंभीरता को देखते हुए त्रिपुरा सरकार ने पहले शनिवार और रविवार को राज्य में पूर्ण लॉकडाउन का सुझाव दिया है, लेकिन केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस मुद्दे पर अब तक कोई जवाब नहीं दिया।"
बता दें कि कुल 14,531 पॉजिटिव मामलों में से, 5,217 मामले केवल पश्चिम त्रिपुरा जिले में पाए गए, जो कि राजधानी अगरतला से बेहद करीब है। वहीं कुल 144 मौतों में से 65 फीसदी मौतें भी इसी जिले में हुईं हैं। अगरतला म्युनिसिपल कॉरपोरेशन क्षेत्रों में लगभग पांच लाख लोग रहते हैं। इसके 49 वाडरें में से दस वाडरें में ही शहर के कोरोना के कुल मामलों में 70 प्रतिशत मामले पाए गए हैं। स्थिति को देखते हुए सरकारी कार्यालयों में सी और डी ग्रुप के 50 फीसदी कर्मचारियों को उपस्थित होने की अनुमति दी जा रही है। रात 8 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है। 


कश्मीर में किशनगंगा नदी से सेना ने हथियार, गोला-बारूद के साथ 2 आतंकवादियों के शव बरामद किए


facebook twitter