+

आंध्र प्रदेश और ओडिशा की तरफ बढ़ रहा है चक्रवात 'गुलाब', बंगाल में भारी बारिश का अनुमान, IMD ने जारी किया अलर्ट

बंगाल की खाड़ी में एक लो प्रेशर बना था जो अभी डीप डिप्रेशन का रूप ले चुका है। ऐसा लग रहा है कि यह चक्रवात कल शाम तक आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम में लैंडफॉल करेगा।
आंध्र प्रदेश और ओडिशा की तरफ बढ़ रहा है चक्रवात 'गुलाब', बंगाल में भारी बारिश का अनुमान, IMD ने जारी किया अलर्ट
बंगाल की खाड़ी के उत्तरपूर्वी और उससे जुड़े पूर्वी मध्य क्षेत्र में गहरे दबाव का क्षेत्र बनने पर भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने ओडिशा तथा आंध्र प्रदेश के लिए चक्रवाती तूफान 'गुलाब' की चेतावनी जारी की। वहीं पश्चिम बंगाल में भारी बारिश का अनुमान है। गहरे दबाव का क्षेत्र गोपालपुर से 510 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व और आंध्र प्रदेश में कलिंगपत्तनम से 590 किलोमीटर पूर्व में शनिवार सुबह बना।
आईएमडी ने कहा, ‘‘इसके अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। यह 26 सितंबर की शाम तक कलिंगपत्तनम के आसपास विशाखापत्तनम और गोपालपुर के बीच उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तटों की ओर बढ़ सकता है।’’ 
मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि इसके प्रभाव से शनिवार को ओडिशा और तटीय आंध्र प्रदेश के ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान है। रविवार को भी दक्षिण ओडिशा और उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश में ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। 
ओडिशा के उत्तरी अंदरुनी इलाकों, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में भी रविवार को भारी बारिश हो सकती है। इसी तरह आईएमडी ने 27 सितंबर के लिए ओडिशा और तेलंगाना के ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान जताया है। 
साथ ही तटीय पश्चिम बंगाल के कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। उसने बंगाल की खाड़ी के उत्तरपश्चिम और पश्चिम-मध्य क्षेत्र में 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने का भी अनुमान जताया है। अगले तीन दिनों के दौरान समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी और ओडिशा, पश्चिम बंगाल तथा आंध्र प्रदेश में मछुआरों को 25 से 27 सितंबर तक बंगाल की खाड़ी के पूर्वी-मध्य और उत्तरपूर्वी क्षेत्र में समुद्र में न जाने को कहा गया है। 
आईएमडी ने 26 सितंबर को तटीय आंध्र प्रदेश और अगले दो दिनों में ओडिशा तथा छत्तीसगढ़ में मूसलाधार बारिश के कारण सड़कों के जलमग्न होने और निचले इलाकों में जलभराव का भी अनुमान जताया है। ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने सभी जिलाधीशों से मौसम पूर्वानुमान के मद्देनजर सतर्क रहने को कहा है।
उन्होंने कहा, बंगाल की खाड़ी में एक लो प्रेशर बना था जो अभी डीप डिप्रेशन का रूप ले चुका है। ऐसा लग रहा है कि यह चक्रवात कल शाम तक आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम में लैंडफॉल करेगा। IMD के साथ मिलकर 7 ज़िलों के लिए अलर्ट जारी किया है। ज़िला प्रशासन भी पुलिस के साथ मिलकर हालात का जायज़ा ले रहा है। उनको सहयोग देने के लिए हमने NDRF की 24 टीमें और फायर विभाग की 100 टीमें तैनात की हैं। 
facebook twitter instagram