ईरान की ओर से उकसावे की हर कार्रवाई से पूरी ताकत से निपटेंगे : अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि ऐसा कोई संकेत नहीं है कि ईरान पश्चिम एशिया में अमेरिकी हितों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। उन्होंने कहा कि ईरान के किसी भी उकसावे का करारा जवाब दिया जाएगा। ट्रंप ने सोमवार को व्हाइट हाउस प्रेस पूल की रिपोर्ट के हवाले से कहा, “हमें इस बात का कोई संकेत नहीं है कि कुछ हुआ है या होगा लेकिन अगर ऐसा होता है तो इसका करारा जवाब दिया जाएगा।”

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा कि अगर ईरान के अधिकारी समझौते के लिए हाथ बढाएंगे तो वह उनके साथ वार्ता करने के लिए तैयार होंगे। अमेरिका-ईरान के बीच तनाव पिछले साल पहली बार तब बढ़ा जब अमेरिका ने ईरान के साथ 2015 के परमाणु समझौते से एकतरफा हट गया और ईरान के खिलाफ प्रतिबंधों को लागू करना शुरू कर दिया।

यदि ईरान हमला करता है, तो यह उसका आधिकारिक अंत होगा : ट्रम्प

ईरान ने 8 मई को परमाणु समझौते के तहत अपने दायित्वों को आंशिक रूप से बंद करने के अपने फैसले की घोषणा की। हाल के हफ्तों में अमेरिका ने पश्चिम एशिया में अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी जिसे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने ईरानी शासन के लिए एक स्पष्ट संदेश बताया।

अमेरिका के रक्षा मंत्रालय के अनुसार अमेरिका ने हाल ही में युद्ध समूह वाहक एक विमान, पैट्रियोट मिसाइलों, बी-52 बमवर्षकों विमानों और एफ -15 लड़कू विमानों को तैनात किया है। ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने कहा है कि ईरान का अमेरिका के साथ युद्ध करने का इरादा नहीं है लेकिन वह अमेरिका का विरोध करता रहेगा।

Tags : ,America,Iran