अयोध्या पर फैसला आस्था का सम्मान करने वाला : सुशील कुमार मोदी

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय के आज आए फैसले को देश की परंपरा, आस्था एवं भावनाओं का सम्मान करने वाला बताया और कहा कि इससे मंदिर भी बनेगा और मस्जिद भी बनेगी।

श्री मोदी ने यहां कहा कि अयोध्या में रामजन्म भूमि मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय का निर्णय देश की परंपरा, आस्था और भावनाओं का सम्मान करने वाला है। उन्होंने कहा कि इससे मंदिर भी बनेगा और मस्जिद भी बनेगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि इस ऐतिहासिक फैसले के साथ सामाजिक सौहार्द्र पर विपरीत असर डालने वाला एक विवाद हमेशा के लिए समाप्त हो गया है। उन्होंने कहा कि आज भारतीय संस्कृति का सूर्य कटुता के ग्रहणकाल से मुक्त हो रहा है।

मोदी ने कहा कि उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ के पांच न्यायाधीशों की पीठ ने जिस धैर्य के साथ सबको अपनी बात रखने का मौका दिया और तथ्यों के आधार पर सर्वसम्मति से जो फैसला सुनाया, उसका सबको सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसमें किसी की हार नहीं और जीत सबकी है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अब हिंदुओं को मस्जिद बनाने में और मुसलमानों को राम मंदिर बनाने में सहयोग कर देश की एकता को मजबूत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अयोध्या मुद्दे पर लंबी सुनवाई के बाद उच्चतम न्यायालय का निर्णय भारत की न्याय व्यवस्था का मान बढ़ने वाला है। इसके लिए सभी माननीय न्यायाधीशों का आभार, अभिनंदन।

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय के पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने आज अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाते हुए 2.77 एकड़ विवादित जमीन रामलला विराजमान को देने का आदेश दिया है। इसके साथ ही मुस्लिम पक्ष को मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ वैकल्पिक जमीन अयोध्या में ही कहीं और आवंटित करने का भी आदेश सरकार को दिया है।
Tags : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,Prime Minister Narendra Modi,Punjab Kesari,बिप्लब कुमार देब,Bipel Kumar Deb,त्रिपुरा मुख्यमंत्री,Chief Minister of Tripura ,Ayodhya,Sushil Kumar Modi,judges,Supreme Court,India