+

NEET पास करने वाले सरकारी स्कूलों के छात्रों के कोटा पर 3-4 हफ्तों में लिया जा सकता है फैसला

डीएमके के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने राज्यपाल को नीट परीक्षा पास करने वाले सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को कोटा देने के संदर्भ में पत्र लिखा था।
NEET पास करने वाले सरकारी स्कूलों के छात्रों के कोटा पर 3-4 हफ्तों में लिया जा सकता है फैसला
द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (डीएमके) के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने राज्यपाल को नीट परीक्षा पास करने वाले सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को कोटा देने के संदर्भ में पत्र लिखा था। जिसके जवाब में तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने कहा कि सरकारी स्कूलों के जिन छात्रों ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) में सफलता पाई है उनके कोटा पर सरकार 3-4 हफ्तों में फैसला लिया जाएगा। 
बनवारीलाल पुरोहित ने पत्र में लिखा कि 'मैंने आपका पत्र 21.10.2020 को प्राप्त किया, जो सरकारी स्कूलों से पढ़ने वाले छात्रों द्वारा नीट परीक्षा पास करने पर उन्हें मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए 7.5 फीसदी आरक्षण देने के संबंध में है। मैं आपको बताना चाहूंगा कि मैंने मामले पर संज्ञान लिया है और इसका हर एंगल से परीक्षा किया जा रहा है। इस मुझे कोई फैसला लेने में 3-4 हफ्ते का समय लगेगा। यह बात मंत्रियों के एक समूह जिनसे मैँ हाल में मिला था, उन्हें भी सूचित कर दी गई है।'
बता दें कि तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी द्रविड़ मुनेंद्र कड़गम (DMK) ने ना सिर्फ छात्रों को आरक्षण देने वाले बिल का समर्थन किया बल्कि इसे तुरंत पास करने की गुजारिश करते हुए कहा कि इस आरक्षण बिल को लाने से सरकारी स्कूलों के छात्रों का भी मेडिकल की पढ़ाई करने का सपना पूरा हो सकता है।  
facebook twitter instagram