+

दिल्लीः इतना तो पत्नी ने भी कभी नहीं डांटा, LG की चिट्ठियों पर तंज कसते हुए बोले केजरीवाल- थोड़ा Chill करो

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल के बीच खींचतान जोरदार तरीके से चल रही है। एलजी विनय कुमार सक्सेना किसी न किसी दिन केजरीवाल या उनके अधीनस्थों को पत्र जारी करते रहते हैं। कुछ समय के लिए सीएम ने उपराज्यपाल पर तीखा तंज कसा और सलाह भी दी।
दिल्लीः इतना तो पत्नी ने भी कभी नहीं डांटा, LG की चिट्ठियों पर तंज कसते हुए बोले केजरीवाल- थोड़ा Chill करो
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल के बीच खींचतान जोरदार तरीके से चल रही है। एलजी विनय कुमार सक्सेना किसी न किसी दिन केजरीवाल या उनके अधीनस्थों को पत्र जारी करते रहते हैं। कुछ समय के लिए सीएम ने उपराज्यपाल पर तीखा तंज कसा और सलाह भी दी। 
जितना एलजी साहब डांटते हैं उतना तो मुझे मेरी पत्नी भी नहीं डांटतीः केजरीवाल 
केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा कि एलजी साहब जितना रोज मुझे डांटते हैं, उतनी तो मेरी पत्नी भी मुझे नहीं डांटती। पिछले छह महीनों में, मेरी पत्नी ने मुझे उतने प्रेम पत्र नहीं लिखे जितने एलजी साहब ने मुझे लिखे हैं। सीएम ने अपने पोस्ट में लिखा कि एलजी सर, थोड़ा चिल करें और अपने सुपर बॉस को भी बताओ। बता दें कि उनका इशारा पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तरफ था। 
लोगों ने केजरीवाल पर कसा तंज 
सोशल मीडिया पर लोगों ने केजरीवाल पर तरह-तरह के तंज कसे। एक युजर ने कहा कि पत्नी को पति बदलने के लिए कहो, तो प्रेम पत्र भी लिखने लगेंगे। सुषमा चौहान ने लिखा कि आज मेरे सपने में महात्मा गांधी आए, उन्होंने मुझसे कहा बेटा हिंसा करना पाप है लेकिन केजरीवाल कहीं मिले तो….
एलजी और पत्नी दोनों का डांटना सहीः यूजर 
एक ने लिखा कि सर ने लव लेटर की कमाल की परिभाषा दी है। गृह मंत्रालय की डांट से बढ़ जाएगी प्यार की जीडीपी, सर। एक ने लिखा कि तुम भी एलजी साहब के घर के सामने सोफा लगाकर लेटे रहो। एक ने कहा कि पत्नी और एलजी साहब दोनों को डांटना सही है! सत्ता में रहना सीखो। जीपी सिंह ने कहा कि एलजी साहब गलती करते हैं। डांटने की बजाय मुंह फुला लेना चाहिए। आप ड्यूटी पर रहेंगे। एक ने कहा इसमें गलत क्या है।
नीचले स्तर पर आई राजनीतिः यूजर  
एक यूजर ने कहा कि बच्चे डांटने से बाज नहीं आ रहे हैं तो टीचर को डंडा उठाना चाहिए। एक अन्य ने कहा कि एक सीएम को ऐसी भाषा और ट्वीट से बचना चाहिए। अनुज अग्रवाल ने लिखा कि केजरीवाल ने बहुत ही असंवैधानिक भाषा का इस्तेमाल किया है। इन दिनों राजनीति का स्तर कितना नीचे चला गया है। शीला दीक्षित के समय दिल्ली सरकार और एलजी के बीच ऐसा कोई भाषा संवाद नहीं देखा गया था। राजनीति अपने सबसे निचले स्तर पर आ गई है।
facebook twitter instagram